उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने पत्रकारों और उनके परिजनों को प्राथमिकता के आधार पर निशुल्क टीकाकरण का निर्णय लिया

by bharatheadline

पत्रकारों को वैक्सीन लगाने की विधि अलग से टीकाकरण केंद्र बनाने के निर्देश

मीडिया संस्थानों में जाकर भी किया जाएगा टीकाकरण

पत्रकारों की मृत्यु पर उनके आश्रितों को मिलेगी ₹500000 की आर्थिक सहायता

लखनऊ: ।योगी सरकार की ओर से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मंगलवार को बड़ा फैसला लिया गया है। इसके तहत उत्तर प्रदेश में अब पत्रकारों और उनके परिवारों को वैक्सीनेशन में प्राथमिकता मिलेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिये हैं कि पत्रकारों के लिये अलग से वैक्सीनेशन सेंटर बनाए जाएं और प्राथमिकता के आधार पर उनका वैक्सीनेशन किया जाए।यही घोषणा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सहित कई राज्य के मुख्यमंत्री कर चुके हैं लेकिन छत्तीसगढ़ में प्रसासन ओर पुलिस के साथ लगातार काम कर रहे पत्रकारों पर कोई पहल नहीं हो रही।भूपेश बघेल सरकार के द्वारा ना कोरोना से मौत होने वाले पत्रकारों को राहत दी जा रही हैं।

प्रेस क्लब के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष नरेश शर्मा सहित छत्तीसगढ़ के सभी पत्रकार साथियों ने भूपेश बघेल सरकार से अपील की है कि वो भी अन्य राज्यो की तरह छत्तीसगढ़ के पत्रकारों के लिए बड़ी घोषणा कर उनको कोरोना वारियर्स का सम्मान दे।

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री ने कल ही

अधिकारियों से कहा है कि सभी पत्रकारों को वैक्सीन लग जाए इसे सुनिश्चित कराएं। जरूरत हो तो मीडिया दफ्तरों में भी जाकर कोरोना वैक्सीन लगाने का अभियान चलाएं। पत्रकारों के परिवार में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वेक्सीन लगाई जाएगी।जबकि छत्तीसगढ़ में लगातार पत्रकारों की मांग पर कोई घोषणा नहीं हो रही।उत्तरप्रदेश में

कोरोना की लड़ाई में फ्रंट वॉरियर की तरह हमेशा ग्राउंड जीरो पर रिपोर्टिंग का जिम्मा संभालने वाले उत्तर प्रदेश के पत्रकारों की सुरक्षा के लिये यूपी सरकार की ओर से अब तक का सबसे बड़ा निर्णय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से लिया गया है।

पत्रकारों और उनके परिवारीजनों को वैक्सीन लगाने के निर्देश
पत्रकारों की कठिन ड्यूटी और काम के दौरान समय की कोई बाध्यता नहीं होती है। ऐसे में योगी सरकार ने पत्रकारों और उनके परिवारीजनों को कोरोना से बचाव के लिये वैक्सीन लगाने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री के दिशा-निर्देश पर आला अधिकारियों ने प्राथमिकता के आधार पर पत्रकारों का वैक्सीनेशन करने और अलग से वैक्सीनेशन सेंटर बनाए जाने के काम को तेज गति से शुरू कर दिया है।

पत्रकार की मृत्यु पर आश्रितों को मिलेगी 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की गई है।इस पहल का स्वागत करते हुए प्रेस क्लब के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष नरेश शर्मा, बिलासपुर प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष शशि कांत कोन्हेर ने किया है और एक बार फिर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से अपील की है कि छत्तीसगढ़ में भी पत्रकारों के लिए बड़ी घोषणा करे।

Related Posts

Leave a Comment