अब एंटीबॉडी कॉकटेल से होगा कोरोना मरीजों का इलाज, भारत में इस्तेमाल को आपातकालीन मंजूरी

by bharatheadline

कोरोना के खिलाफ जंग में देश को एक और हथियार मिल गया है। कोरोना मरीजों के इलाज के लिए दवा कंपनी रॉशे के एंटीबॉडी कॉकटेल को भारत सरकार में इस्तेमाल की आपातकालीन मंजूरी मिल गई है। रोशे इंडिया ने बुधवार को घोषणा की कि सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड्स कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ) ने भारत में कोरोना मरीजों के लिए इलाज के लिए एंटीबॉडी कॉकटेल को आपातकालीन मंजूरी दे दी है।
दवा कंपनी रोशे फार्मा इंडिया के एमडी वी सिम्पसन एमैुनुएल ने कहा है, ”भारत में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के बीच रोशे प्रतिबद्धता जाहिर करता है कि मरीजों के हॉस्पिटलाइजेशन और हेल्थकेयर सिस्टम से दबाव घटाने के लिए हम हर संभव कोशिश करेंगे। एंटीबॉडी कॉकटेल जैसे casirivimab और imdevimab कोरोना के खिलाफ जंग और अधिक जोखिम वाले मरीजों की स्थिति बिगड़ने से पहले इलाज में अहम योगदान दे सकते हैं। कोविड -19 का ओपीडी इलाज टीकाकरण अभियान का पूरक होगा और भारत में महामारी के खिलाफ हमारी लड़ाई का समर्थन करेगा।”
रॉश इंडिया ने एक बयान में बताया कि भारत में कासिरिविम्ब और इमदेवमब एंटीबॉडी के मिश्रण का इस्तेमाल करने की अनुमति अमेरिका में ईयूए के लिए जमा आंकड़ों और यूरोपीय संघ के मानव पर चिकित्सा उत्पाद के इस्तेमाल की समिति (सीएचएमपी) के वैज्ञानिकों की राय के आधार पर मिली है।
कंपनी ने बताया, ”आपात इस्तेमाल प्राधिकार प्राप्त होने के बाद रॉश इसका आयात वैश्विक उत्पादकों से कर भारत में रणनीतिक साझेदार सिपला के जरिए वितरित कर सकती है।” एंटीबॉडी कॉकटेल का इस्तेमाल कोविड-19 के हल्के और मध्यम लक्षण वाले मरीजों के उपचार में किया जाता है।

Related Posts

Leave a Comment