लॉकडाउन बढ़ाने के बाद सरकार का ऐलान, यहां गरीब परिवारों को 5 हजार रुपए की आर्थिक मदद..पढिये पूरी खबर

by bharatheadline

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लागू पाबंदियों के बीच हरियाणा सरकार ने गरीबी रेखा के नीचे रह रहे परिवारों की मदद के लिए बड़ी घोषणा की है। राज्य की मनोहर लाल खट्टर सरकार गरीब परिवारों को 5 हजार रुपए की आर्थिक मदद देने जा रही है। सरकार का कहना है कि पाबंदियों की वजह से गरीब परिवारों की आजिविका बंद हो गई है और इसलिए यह फैसला लिया गया है।
राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने सोमवार को कहा, ”गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों को 5 हजार रुपए देने का फैसला लिया गया है, क्योंकि उनकी रोजी-रोटी बंद हो गई है और उन्हें कोविड की वजह घर में ही रहना है। उन्हें बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।
हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के लिए लॉकडाउन की अवधि को 17 मई तक बढ़ाए जाने की रविवार को घोषणा की। हरियाणा के गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्विटर पर कहा, ”10 मई से 17 मई तक महामारी अलर्ट, सुरक्षित हरियाणा।” उन्होंने कहा कि राज्य में संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के लिए कड़े उपाय किए जाएंगे।
बाद में विज ने पीटीआई से कहा कि राज्य में वर्तमान में लागू पाबंदियां 17 मई तक प्रभावी रहेंगी। पिछले सप्ताह हरियाणा सरकार ने राज्य में तीन मई से 10 मई (सुबह पांच बजे) तक लॉकडाउन लगाने की घोषणा की थी। रविवार देर रात जारी आधिकारिक आदेश में लॉकडाउन के निर्देश जारी करते हुए कहा गया कि शादी, अंतिम संस्कार में 11 से ज्यादा लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। शादी घर पर या अदालत में हो सकती है और अधिकतम 11 लोग मौजूद रह सकते हैं। बारात ले जाने की अनुमति नहीं होगी।
हरियाणा ने लॉकडाउन का उल्लेख ”महामारी अलर्ट, सुरक्षित हरियाणा” के तौर पर किया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी ट्वीट के माध्यम से इस बारे में सूचना दी। राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने ट्वीट में कहा, ”महामारी की दूसरी लहर की गंभीरता को देखते हुए मैं सभी से सरकार का सहयोग करने की अपील करता हूं जिससे कि हम बीमारी की कड़ी को तोड़ने में सफल हो सकें और विजयी बन सकें।
हरियाणा में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 13,548 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 6,15,897 हो गई जबकि 151 मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या 5,605 हो गई।

Related Posts

Leave a Comment