एक गांव ऐसा भी! मौत एक भी नहीं.. वैक्सीनेशन शत प्रतिशत

by bharatheadline

धमतरी । जिले के नगर पंचायत आमदी ने कोरोना कंट्रोल में शानदार काम किया है, अभी तक यहां एक भी मौत कोरोना से नहीं हुई और वैक्सीन का पहला डोज भी 100 फीसदी लग चुका है। अब धमतरी कलेक्टर पूरे जिले में आमदी मॉडल अपनाने जा रहे हैं।
देश में कोरोना से हर दिन हजारों की जान जा रही है। सरकार के तमाम कोशिशों के बाद भी मौत पर लगाम नहीं लग रहा है। कहीं ऑक्सीजन, कहीं वेंटिलेटर, कहीं बिस्तर, कहीं इंजेक्शन की कमी से कई परिवार की खुशियां उजाड़ गई। इन हालातों के बीच धमतरी जिले के छोटे से नगर पंचायत आमदी ने बेहतरीन काम किया है। दरअसल कोरोना के खात्मे के लिए आमदी गांव के लोगों ने नया मिसाल पेश किया है। तमाम अफवाहों को दरकिनार करते हुए 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन किया है।
दूसरी ओर सजगता, जागरूकता, और ग्रामीणों के साथ नगर पंचायत का अद्वितीय समन्वय ऐसा रहा कि यहां आज तक एक भी मौत कोरोना से नहीं हुई। आमदी अध्यक्ष नगर पंचायत हेमंत माला ने कहा कि इतना शानदार नतीजा यूं ही नहीं आ गया, इसमें गांव के सामाजिक नेतृत्व, राजनीतिक नेतृत्व, स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन का एक साथ टीम की तरह किया गया प्रयास है।
जिसे गांव के हर एक आदमी ने ईमानदारी से स्वीकार किया। आज की तारीख तक गांव में वैक्सीनशन का पहला डोज 100 फीसदी लग चुका है। अभी तक कुल 54 लोग ही संक्रमित हुए हैं और फिलहाल सिर्फ 19 लोग ही होम आइसोलेशन में है। बीते डेढ़ साल में कोरोना पीड़ित सिर्फ एक ही व्यक्ति को अस्पताल ले जाना पड़ा है, बाकी सभी अपने घरों में ही आइसोलेट होकर स्वस्थ हो चुके हैं। उपस्वास्थ्य केंद्र के सुपरवाइजर एआर मरकाम ने कहा कि आमदी के प्रदर्शन से धमतरी कलेक्टर भी प्रभावित है। कलेक्टर जे पी मौर्य ने कहा कि, वो खुद अपनी टीम के साथ जाकर वहां के काम के तरीके को समझेंगे और पूरे जिले में लागू करेंगे। कलेक्टर जे पी मौर्य ने कहा कि दुनिया भर की तस्वीरें और आंकड़ें देखें तो लगता है कोरोना प्रलय का दूसरा नाम है, लेकिन आमदी में इसे बेहद आसानी से नकेल डाला जा चुका है। बस थोड़ी ईमानदार और एकजुटता की जरूरत है।

Related Posts

Leave a Comment