गजराजों का आंतक जारी…किसानों का फसल किया चौपट, छाल वन परिक्षेत्र के हाटी का मामला

by bharatheadline

रायगढ़। धरमजयगढ़ वन मंडल में हाथियों की लगभग साल भर मौजूदगी रहती है। यहां हाथियों के कारण लोगों को काफी परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। हर रात लोगों के बीच किसी बड़ी घटना का डर भी बना रहता है। जहां बीती रात हाथियों के दल ने छाल रेंज के हाटी बीट में किसानों के फसल को रौंद कर बर्बाद कर दिया। घटना के बाद सुबह नुकसान का आंकलन कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।
इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक बीती रात छाल रेंज के ग्राम हाटी के जंगल में लगभग 17 से 18 हाथी का दल विचरण कर रहा था। जहां बताया जा रहा है कि रात होने के बाद हाथी जंगल से निकलकर गांव के करीब तक पहुंच गए। इसके बाद किसानों के फसल को हाथी ने रौंद डाला। ग्रामीणों ने बताया कि लालजीत राठिया, गोवर्धन राठिया, धनीराम सहित पांच किसानों के फसल को हाथियों ने रौंद डाला। रात के दौरान उसे भगाने के लिए होहल्ला करने के बाद भी हाथी वहां से नहीं हटे फिर देर रात जंगल की ओर चले गए। बताया जा रहा है कि सोमवार की शाम को भी गांव के करीब जंगल में हाथियों की मौजूदगी की जानकारी मिल रही है। फिलहाल हाथियांे के कारण लोगों के बीच दहशत का माहौल निर्मित है और रात में हाथियों की एक चिंघाड़ के बाद ग्रामीणों को रतजगा करने की मजबूरी बन जाती है।
’54 हाथियों का दल कर रहा विचरण-’
विभागीय अधिकारियों ने बताया कि धरमजयगढ़ वन मंडल में सोमवार की स्थिति में 54 हाथियों का दल विचरण कर रहा है। बताया जा रहा है कि इसमंे छाल, धरमजयगढ़ वन परिक्षेत्र में अधिक हाथी हैं, जो दिन भर जंगल में विचरण करते हैं और रात होने के बाद गांव के करीब तक पहुंच जाते हैं।
क्या कहते हैं धरमजयगढ़ एसडीओ
इस संबंध में वन मंडल धरमजयगढ़ के एसडीओ बीएस सरोटे का कहना था कि बीती रात छाल रेंज के हाटी ग्राम में हाथियों ने फसल नुकसान किया है। जिसका आंकलन कर आगे की प्रक्रिया पूरी की जा रही है। वर्तमान में धरमजयगढ़ वन मंडल में 54 हाथियों का दल विचरण कर रहा है। ग्रामीणों को हाथी प्रभावित जंगल में अकेले जाने से मना किया गया है।

Related Posts

Leave a Comment