शवों के परिवहन व श्मशान-कब्रिस्तान की पर्याप्त प्रबंध की मांग पर सरकार से मांगा जवाब

by bharatheadline

उच्च न्यायालय ने सोमवार को दिल्ली सरकार से कोरोना संक्रमण से मरने वाले व्यक्ति के शवों के परिवहन और अंतिम संस्कार के लिए पर्याप्त बुनियादी ढांचा बनाने की मांग पर जवाब मांगा है। न्यायालय ने इस मांग को लेकर दाखिल जनहित याचिका पर यह आदेश दिया है। याचिका में कोरोना संक्रमण से मरने वाले व्यक्ति को शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाने में वाहनों की काफी कमी होने के अंतिम संस्कार में भी परेशानियों का समना करना पड़ रहा है।
मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने दिल्ली सरकार को नोटिस जारी कर विस्तृत हलफनामा दाखिल किया है। पीठ ने अधिवक्ता मुजीब उर रहमान की याचिका पर यह आदेश दिया है। याचिका में उन्होंने महामारी के दौरान काफी संख्या में लोगों की मौत हो रही है और अस्पतालों में बने शवगृहों में शवों को रखने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है।
याचिका में उन्होंने कोरोना से मरने वाले व्यक्ति के शव को रखने के लिए पर्याप्त शवगृह बनाने की मांग की है। साथ ही कहा है कि राजधानी में शव के परिवहन के साधन नहीं है। साथ ही कहा कि जहां शमशान में अंतिम संस्कार के लिए लोगों की लंबी लाइने लग रही है, वहीं क्रबिस्तान में भी शव को दफनाने के लिए जगह कम पड़ रही है। याचिका एक ऐसे व्यक्ति की परेशानी का भी जिक्र किया है जिसके माता-पिता की घर पर इलाज के दौरान कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। याचिका में कहा गया है कि उस व्यक्ति को एक दिन तक अंतिम संस्कार करने में कोई मदद नहीं मिली क्योंकि पड़ोसी संक्रमित होने से डरते थे। याचिका में कहा गया है कि जब तक उन्हें कोई सहायता मिली, तब तक शव सड़ने लगे थे।

Related Posts

Leave a Comment