प्रेमी ने CM से लगाई गुहार-सर शादी-ब्‍याह पर भी लगा दीजिए रोक, ताकि 19 मई को रुक जाए गर्लफ्रेंड की शादी

by bharatheadline

कोरोना के मामलों को देखते हुए बिहार में पांच से 15 मई तक के लिए लागू लॉकडाउन को और 10 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया था, जो कि अब 25 मई तक लागू रहेगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 13 मई को खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी। इस बीच मोहब्‍बत में नाकाम एक कथित प्रेमी ने मुख्‍यमंत्री से ट्वीटर पर एक ऐसी अजीबोगरीब मांग कर दी जिसे पढ़कर लोग हैरान रह गए। इस प्रेमी ने मुख्‍यमंत्री से लॉकडाउन में अन्‍य पाबंदियों के साथ-साथ शादी-ब्‍याह पर भी रोक लगाने की मांग की है। प्रेमी का कहना है कि 19 मई को उसकी गर्लफ्रेंड की शादी तय है। यदि शादी-ब्‍याह पर रोक लग गई तो उसकी शादी भी रुक जाएगी। उधर, इस कथित प्रेमी की कथित गर्लफ्रेंड ने इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया में जो कुछ लिखा है वो और भी हैरान करने वाला है।
प्रेमिका ने प्रेमी पर ही बेवफाई का आरोप लगाते हुए लिखा है कि वह अपनी खुशी से यह शादी कर रही है इसलिए वो इसे रोकने की बात न करे। प्रेमिका ने यह भी लिखा है कि वह भले शादी किसी और से कर ले लेकिन दिल में वही (प्रेमी) बसा रहेगा। यही नहीं प्रेमिका ने अपने प्रेमी से शादी में जरूर आने का अनुरोध करते हुए लिखा है कि वह उसे देखकर ही विदा होना चाहती है। मुख्‍यमंत्री नीतीश के ट्वीट से जुड़कर सार्वजनि‍क हुए कथित प्रेमी-प्रेमिका के इस लिखित संवाद पर जिसकी भी नज़र पड़ रही है उसकी दिलचस्‍पी इन दोनों के बारे में जानने की हो जा रही है। सैकड़ों लोगों ने दोनों के ट्वीट को रिट्वीट और लाइक भी किया है। हालांकि दोनों कहां के रहने वाले हैं और उनके बीच वाकई हुआ क्‍या था, इसका विस्‍तृत विवरण फिलहाल नहीं मिल सका है। प्रेमी ने सीधी सपाट भाषा में 13 मई वाले मुख्‍यमंत्री के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए आग्रह किया है-‘सर अगर शादी-ब्याह पर भी रोक लगा देते तो मेरी गर्लफ्रेंड की 19 मई को होने वाली शादी भी रुक जाती। हम आपके जीवन भर आभारी रहते।’

इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया में कथित प्रेमिका ने लिखा है-‘
तुम जब हमको छोड़कर पूजा से बात करने गए थे तो मैं भी बहुत रोती थी पंकज। आज मैं खुशी से शादी कर रही हूं तो ऐसा मत करो प्लीज़। लेकिन पंकज भले मैं शादी किसी से कर लूं, दिल में तुम्हीं बसे रहोगे Red heart। शादी में जरूर आना, मैं तुम्हें देखकर विदा होना चाहती हूं।’

25 मई तक लगाई गई हैं ये पाबंदियां
बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछली 13 मई को लॉकडाउन की समीक्षा के बाद कहा था कि राज्‍य में लॉकडाउन का सकारात्मक प्रभाव दिख रहा है। इसलिए इसकी अवधि बढ़ाई जा रही है।
मुख्यमंत्री के निर्णय के बाद पांच से मई से लागू लॉकडाउन में कुछ संशोधन करते हुए नया आदेश गृह विभाग ने गुरुवार को जारी कर दिया है, जो 16 मई से प्रभावी होगा। स्कूल-कॉलेज बंद रहने, अनावश्यक पैदल निकलने पर भी रोक समेत लॉकडाउन की अन्य पाबंदियां यथावत रहेंगी, पर दुकानों के खोलने का समय में कुछ बदलाव किया गया। वहीं रोजगार और खेती से जुड़ी दुकानों को सप्ताह में दो दिन खोलने की इजाजत दी गई। मालूम हो कि लॉकडाउन के बाद कोरोना संक्रमण की दर कम हुई है। दो मई को संक्रमण दर राज्य में 15.7 प्रतिशत था, जो 11 मई को घटकर 8.9 प्रतिशत पर आ गया।

दुकानों को खोलने का समय बदला

गृह विभाग के नए आदेश में आवश्यक खाद्य सामग्रियों की दुकानों को खोलने के समय में बदलाव किया गया है। पूर्व में लागू आदेश में राज्य भर में खाद्य सामग्री, फल-सब्जी, मांस, मछली, दूध, पीडीएस की दुकानों को सुबह सात से 11 बजे तक खोलने की अनुमति थी। अब शहर और गांव के लिए अलग-अलग समय निर्धारित किया गया है।
शहरों में उक्त दुकानें सुबह छह से 10 बजे तक खुल रही हैं। वहीं, गांवों में इन दुकानों के खुलने का समय सुबह 8 से 12 बजे तक निर्धारित किया गया है। फल और सब्जी की दुकानों को लेकर जिलाधिकारी को यह सुनिश्चित करने की जिम्‍मेदारी दी गई है कि एक ही स्थान पर दुकानें नहीं रहें और भीड़ नहीं हो। ठेला पर घूम-घूम कर फल-सब्जी की बिक्री की इजाजत दी गई है।

Related Posts

Leave a Comment