सरकारी शराब दुकानों से हो रही है धड़ल्ले से अवैध बिक्री,सेल्समेन की देखरेख में अपने चहेतों को दी जा रही शराब

by bharatheadline

रायगढ़. भले ही राज्य सरकार ने शराबियों के लिए ऑनलाईन शराब खरीदने की छूट दे दी हो, लेकिन इस ऑनलाईन के रास्ते सरकारी दुकान से ही जब अवैध शराब बिक्री जोरशोर से होने लगे तो भला कौन कार्रवाई करेगा! सवाल यह है कि एक तरफ तो जिले में पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह अवैध शराब की बिक्री पर ताबड़तोड कार्रवाई कर रहे हैं वहीं आबकारी विभाग ने एक भी मामला दर्ज नही किया है। जिसकी साफ वजह है कि उनकी शराब तस्करों से बडी सांठगांठ है।
शहर के चक्रधर नगर मार्ग पर स्थित सरकारी शराब दुकान का शटर बीते एक सप्ताह से खोलकर वहां आने वालों को शराब दी जा रही है और पकड़े जाने पर सेल्समेन की सफाई यह रहती है कि उन्हें ऑनलाईन बुकिंग के बाद यहां से शराब दी जा रही है जबकि काकाजी डॉट काम के वीडियो में कैद होनें की जानकारी मिलने के बाद कई छोटे बड़े शराब तस्कर दुकान से बाहर निकलकर भागते नजर आए वहीं कुछ अन्य लोग बोरों में भर-भरकर शराब ले जाते नजर आए। दुकान के बाहर खड़ा गार्ड उनका सहयोग कर रहा था और अंदर बैठा सेल्समेन जिसका नाम युवराज पटेल वह कहता है कि दुकान खोलकर ऑनलाईन शराब बेच रहे हैं और वह गलत नही है। जबकि ऑनलाईन में ग्राहकों को शराब घर बैठे मिलती है न कि दुकान में आने के बाद। कैमरे में कैद लोग जितनी मात्रा में शराब ले जा रहे थे वह भी नियमों के विपरीत थी इतना ही नही बड़ी मात्रा में दुकान से शराब इस तरह निकलकर ग्राहकों को दिया जाना अपने आप में सीधे-सीधे अवैध शराब तस्करी को बढ़ावा देना है।
इस संबंध में सबसे चौकाने वाली बात यह है कि आबकारी विभाग की सहायक आयुक्त या सहायक उप निरीक्षक इस पूरे मामले को जानते हुए भी इस प्रकार की अवैध बिक्री को रोकने की बजाए अपना मौन समर्थन दे रहे हैं। हमने आबकारी विभाग के सहायक उप निरीक्षक सहित अन्य जिम्मेदार अधिकारियों से भी बात करने की कोशिश की लेकिन किसी का भी फोन नही लगा।
बहरहाल देखना यह है कि इस लॉकडाउन में दिन व रात मेहनत करके हर गड़बडी को रोकने वाले जिला कलेक्टर भीम सिंह व जिले के तेज तर्रार पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ऐसे मामलों में क्या कार्रवाई करते हैं।

Related Posts

Leave a Comment