गर्लफ्रेंड करती थी अलग-अलग डिमांड, शौक को पूरा करने के लिए ढाबा संचालक बन गया लुटेरा, तीन गिरफ्तार

by bharatheadline

प्रेमिका के शौक पूरा करने के लिए ढाबा संचालक लुटेरा बन गया। गैंग बनाकर लूट की ताबड़तोड़ वारदातों का अंजाम दिया। इस गिरोह को जैथरा पुलिस, स्वाट, सर्विलांस टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए दबोचा। फरार तीन शातिरों की तलाश में दबिश दी जा रही हैं। इन लोगों ने लखीमपुर खीरी के चार यात्रियों को लूट लिया था। पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता करते हुए एसएसपी उदयशंकर सिंह ने बताया कि सोमवार रात को अलीगंज मार्ग दरियाबगंज तिराहे कुछ लुटेरे लूट की योजना बना रहे थे।
जैथरा एसओ सुधीर कुमार सिंह, स्वाट, सर्विलांस टीम ने कार्रवाई करते हुए अवैध असलाह सहित तीन लुटेरों को पकड़ा। तीन मौके से भागने में सफल रहे। पूछताछ में लुटेरों ने बताया कि बीस अप्रैल को बस स्टैंड से दो सवारियों को बैठाकर दो मोबाइल, 7400 रुपये, दस मई को बस स्टैंड से तीन सवारियों से तीन मोबाइल, बैग, 4200 रुपये, ग्यारह मई को बस स्टैंड से सवारी बैठाकर कोतवाली देहात क्षेत्र में ले जाकर नकदी, सामान, 10 मई को बागवाला क्षेत्र से दो सवारियों से दो मोबाइल, 57000 हजार लूट की घटना को अंजाम दिया था।
पकड़े गए लुटेरों ने अपने नाम सरगना सौरभ यादव उर्फ देवेश पुत्र सुरेन्द्र निवासी दौलतपुर थाना जैथरा, अविनाश पुत्र सूरजपाल जाटव निवासी वजीरपुर थाना हरिपर्वत आगरा, रितिक पुत्र विनोद निवासी कांशीराम कॉलोनी मानपुर थाना कोतवाली नगर तथा फरार साथियों के नाम संदीप पुत्र विजयपाल, अभिषेक पुत्र विनोद, दीपू पुत्र साहब सिंह निवासी कांशीराम कॉलोनी मानपुर कोतवाली नगर बताया है। पुलिस के अनुसार सौरव यादव ने गौशाला में अपनी प्रेमिका की मांग और शौक पूरा करने के लिए गिरोह बनाया और लूट की कई घटनाओं को बोलेरो के माध्यम से घटना को अंजाम दिया। एसएसपी ने पुलिस टीम को पांच हजार का इनाम देकर सम्मानित किया है।

Related Posts

Leave a Comment