कोरोना से मौत पर सरकार देती है 4 लाख रुपए का मुआवजा? जानें क्या है सच्चाई

by bharatheadline

कोरोना वायरस का संक्रमण तो फैल ही रहा है, साथ में देश में अफवाहें भी उससे अधिक रफ्तार में फैल रही हैं। कोरोना से बचने का उपाय मिल गया है कि वैक्सीन लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और मास्क पहनने से हम इस पर काबू पा सकते हैं। मगर अफवाहों को फैलने से रोकने का अब तक कारगर हथियार नहीं मिल पाया है। इसी कड़ी में सोशल मीडिया पर एक दावा किया जा रहा है कि कोरोना से मौत होने पर सरकार करीब 4 लाख का मुआवजा देती है और उसका एक फॉर्म भी वायरल हो रहा है। तो चलिए जानते हैं इस वायरल दावे के पीछे की सच्चाई।
दरअसल, सोशल मीडिया पर एक फर्जी फॉर्म वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि राज्य आपदा मोचक निधि के अंतर्गत कोरोना के कारण मृत्यु होने पर ₹4,00,000 की सहायता देने का प्रावधान है। लोग इस दावे को सच मान रहे हैं और इसे धड़ल्ले से शेयर भी कर रहे हैं। मगर हकीकत यह है कि यह दावा पूरी तरह से फर्जी है।
पीआईबी की फैक्ट चेक टीम ने अपनी इस पड़ताल में यह पाया है कि यह दावा पूरी तरह से फर्जी है। उसने कहा है कि राज्य आपदा मोचक निधि (SDRF) के अंतर्गत स्वीकृत मानदंडों में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। अब यह बात जब साबित हो गई है कि यह दावा फर्जी है तो इसे शेयर करने से आप भी बचें।

देश में कोरोना का ग्राफ
देश में एक दिन में कोविड-19 के 1,73,790 नए मामले सामने आए जो पिछले 45 दिनों में सबसे कम है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार सुबह तक के आंकड़ों के मुताबिक संक्रमण से प्रभावित होने वाले लोगों की कुल संख्या 2,77,29,247 हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक रोजाना की संक्रमण दर घटकर 8.36 प्रतिशत पर आ गई है और लगातार पांच दिनों से 10 प्रतिशत से कम दर्ज की जा रही है जबकि संक्रमण की साप्ताहिक दर 9.84 प्रतिशत दर्ज की गई। पिछले 24 घंटों में 3,617 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 3,22,512 पर पहुंच गई है।

Related Posts

Leave a Comment