जिम ट्रेनर प्रेमी के लिए पति को नींद की गोलियां खिलाकर मौत के घाट उतारा, पुलिस ने ऐसे पहुंचाया जेल

by bharatheadline

प्रेमी से मिलने की हवस में पत्नी ने नींद की गोली का आधा पत्ता खिलाकर पति की हत्या कर दी। प्रेमी संग घर में मौजूद पत्नी ने आधी रात बीतने के बाद पति को देखा तो वह बेसुध पड़ा था। कोरोनेशन अस्पताल लेकर पहुंचे तो डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस को परिजनों ने मृतक की पत्नी का अफेयर होने की जानकारी दी। जांच हुई तो पूरा राज खुल गया। पुलिस ने हत्यारोपी मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। रायपुर थानाध्यक्ष दिलबर सिंह नेगी ने बताया कि पंकज भट्ट (42) निवासी राजेश्वरी एंक्लेव, नथुवावाला, रायपुर की 27-28 मई की रात मौत की सूचा मिली। पुलिस ने जानकारी की तो पता लगा कि मौत की घर पकज पत्नी संग घर में थे। तभी रात को पत्नी से अपनी सास को पति के बेसुध होने की सूचना दी।
108 एंबुलेंस सेवा की मदद से अस्पताल लेकर गए तो वहां पंकज को मृत घोषित कर दिया गया। पंकज का मोथ डेथ मेमो कोरोनेशन अस्पताल से थाने पहुंचा। इस दौरान पुलिस ने पीएम कराया। पीएम में मौत की वजह पता नहीं लगी। इस दौरान पंकज के भाई और से पता लगी कि पंकज की पत्नी विजया (विजय लक्ष्मी) उर्फ आज्ञा का दीपक नाम के शख्स के साथ अफेयर चल रहा। पुलिस ने विजया के मोबाइल की सीडीआर निकाली तो उसने घटना की रात दीपक पुत्र रामचंद्र निवासी आमवाला तल्ला, रायपुर से कई बार संपर्क किया। दीपक के मोबाइल की लोकेशन भी रात करीब दो घंटे तक पंकज के घर मिली। पुलिस ने दोनों से रविवार सुबह थाने लाकर पूछताछ की। हत्या का सुराग मिलने पर दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
गैराज और प्रॉपर्टी कोरोबारी थे पंकज
पंकज ने अच्छा कामकाज जोड़ा हुआ था। वह प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करते थे। साथ में अपना कार गैराज खोलने के साथ ही किराए पर तीन दुकानें दी हुई थी। पंकज ने अपना घर भी आलिशान बनाया हुआ है। यह एक बीघा से ज्यादा जमीन पर बना है।

पति को संबंधों को पता लगा तो पत्नी ने रास्ते से हटाया दिया
देहरादून। विजय लक्ष्मी की प्रेमी दीपक से वर्ष 2018 में किद्दूवाला स्थित बाडी टेंपल जिम में मुलाकात हुई। विजयलक्ष्मी वहां जिम करने जाती थी तो दीपक ट्रेनर था। जिम कराते वक्त दोनों करीब आए और प्रेम संबंध बन गए। विजय लक्ष्मी दीपक के प्यार में इतना खो गई कि उसने उससे बात करने के लिए दो अलग मोबाइल लिए। जिन्हें कुछ महीने पहले पंकज भट्ट ने पकड़ लिया था। उसमें दोनों की कई साथ में ली गई फोटो भी थीं। मोबाइल पकड़े जाने के बाद दोनों में विवाद रहने लगा था। इसकी भनक पंकज की मां और भाई को भी लगी थी। इसके बाद विजय लक्ष्मी प्रेमी दीपक के और करीब होती चली गई। उसने दीपक को भी बताया कि पति को उसके अफेयर का पता चल गया है। विजयलक्ष्मी दीपक से बार-बार मिलना चाहती थी। उसने दीपक से घर पर मिलने आने को कहा। दीपक ने पति के घर में होने की बात कही तो उसने नींद की गोलियां मंगवाई।

दीपक का जन्मदिन मनाने को बुलाया
26 मई को दीपक का जन्मदिन था। इस दौरान दोनों ने मिलने के लिए पहले से प्लानिंग की हुई थी। 23 मई को विजयलक्ष्मी ने दीपक से नींद की गोली का पत्ता मंगवाया। हालांकि, 26 मई को दीपक अपने दोस्तों के साथ अपने जन्म दिन की पार्टी में व्यस्त होने के नहीं जा पाया। दोनों ने 27 मई की रात मिलने का प्लान बनाया। 27 मई को रात के भोजन में विजय लक्ष्मी ने नींद की गोलियों का आधा पत्ता मिलाया और पति पंकट भट्ट को खाना खिला दिया। पंजक भट्ट खाना खाने के कुछ देर बाद बिस्तर पर अचेत हो गए। इस बीच रात करीब दो घंटे तक दीपक भी विजय के साथ घर में रहा।

विजयलक्ष्मी चाहती थी पंकज को हटाना
रायपुर थाना अध्यक्ष डीएस नेगी ने विजय लख्मी दीपक को करीब लाने के लिए पंकज को रास्ते से हटाना चाहती थी। इसलिए उसने पति को नींद की गोली का आधा पत्ता खिला दिया। हालांकि, प्रेमी से उसने गोली सोने के लिए देने की बात कही थी। दीपक को सुबह की विजय के पति की मौत की भनक लग गई थी।

2006 में हुई शादी, आठ साल की है बेटी
विजयलक्ष्मी और पंकज की शादी वर्ष 2006 में हुई थी। एक दशक से ज्यादा समय तक दोनों के संबंध सामान्य रहे। 2018 में जिम में दीपक से मिलने के बाद विजयलक्ष्मी से पंकज से दूरी बनानी शुरू कर दी। विजय और पंकज की आठ साल की एक बेटी है। पिता की मौत के बाद वह भी सदमे में है।

Related Posts

Leave a Comment