के.एम.टी. कॉलेज के छात्राओं की सराहनीय भूमिका,एनएसएस के इन बेटियों के जज्बे को सलाम ,कोरोना काल में हर प्रकार से कर रहे लोगों का सहयोग

by bharatheadline

रायगढ़। संकटकाल में लोगों को जागरूक करने और सहयोग की दिशा में अपना कर्तव्य निर्वहन के मामले में हमारी बेटियां बेटों से कहीं पर भी कम नहीं है इस बात को प्रमाणित कर दिया है रायगढ़ के किशोरी मोहन त्रिपाठी महिला महाविद्यालय में अध्ययनरत छात्राओं ने वैश्विक महामारी कोरोनावायरस में अपनी सक्रिय और अहम जिम्मेदारी को निर्वहन करते हुए। इनकी सक्रियता और जागरूकता अभियान इन बेटियों को कोरोना वारियर्स के रूप में पहचान दिलाती हैं।
कीशोरी मोहन त्रिपाठी शा.कन्या महाविद्यालय रायगढ़ के राष्ट्रीय सेवा योजना की स्वयंसेविकायें अपने प्राचार्य डॉ.के.सी.कछवाहा के मार्गदर्शन में तथा एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी प्रो. नीति देवांगन के दिशा-निर्देश में कोरोना संक्रमण के बीच लोगों को जागरूक करने में जुटी हुई हैं। इन छात्राओं की सक्रियता व गतिविधि को राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला संगठक भोजराम पटेल, विश्वविद्यालय समन्वयक डॉ. सुशील कुमार एक्का का भरपूर प्रोत्साहन एवं आशीर्वाद प्राप्त होता है जिससे वे और अधिक उत्साह के साथ काम करने में समर्पित रहती हैं।
वैश्विक माहमारी कोरोना के बढते संक्रमण को रोकने के लिए लोगों को घर पर ही रहने की अपील कर रहे और भ्रमित करने वाली बातों से दूर रहने का संदेश भी दे रहे है वहीं वैक्सीन लगवाने के लिए राष्ट्रीय सेवा योजना की स्वयं सेविकाएं पोस्टर बनाकर, दिवारों में नारा लिखकर अपने गांव, शहर, मोहल्ले में लोगों को जागरूक करने में जुटी हुई है। पंडित किशोरी मोहन त्रिपाठी महाविद्यालय की छात्रा कु. टिकेश्वरी सारथी, खुशबू साहू, कामिनी छत्तर, मनीषा खुटे, शारदा यादव, संध्या कुर्रे, अंजली जायसवाल, रागिनी साहू, नीरा सारथी, के द्वारा कोरोना नियम का पालन करने, सेनेटाइजर का उपयोग करने,मास्क पहने और भीड़-भाड़ में दूरी बनाकर रहने एवं कोरोना संक्रमण के बीच घर पर रह कर स्वस्थ रहने का संदेश दे रहे है। राष्ट्रीय सेवा योजना की स्वयंसेविका अफवाहों और भ्रमित बातो से दूर रहने और कोरोना वेक्सीन लगवाने संबंधित स्लोगन दीवारों पर लिख कर प्रेरित करने का प्रयास किया जा रहा है।
राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़े महाविद्यालय में अध्ययनरत इन बेटियों की सक्रियता ना केवल कोरोना महामारी के खिलाफ बल्कि सड़क सुरक्षा सप्ताह हो या माहवारी स्वच्छता प्रबंधन, जिला कलेक्टर के निर्देश में नगर पालिक निगम द्वारा चलाए जाने वाला वार्ड स्वच्छता अभियान में भूमिका हो अथवा अन्य कोई भी जन जागरूकता से संबंधित कार्यक्रम सभी आयोजनों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती हैं और अपने सामाजिक एवं राष्ट्रीय दायित्व का निर्वहन करने में सदैव अग्रणी रहती है।

खुशबू साहू की सक्रियता है औरों के लिए प्रेरणा …
किशोरी मोहन त्रिपाठी महिला महाविद्यालय रायगढ़ में बी.ए. अंतिम अध्ययनरत कुमारी खुशबू साहू राष्ट्रीय सेवा योजना वॉलिंटियर्स के रूप में काम करते हुए अपने हाथों से बनाकर एवं जरूरतमंद लोगों को वितरित करती हैं ।अपने मोहल्ले में भ्रमण कर जरूरतमंद गरीब तबके के लोगों को राशन की आवश्यकता के लिए अपने वार्ड पार्षद से मिलकर उन्हे राशन दिलवाने का काम करने में भी वह सक्रिय रहती है। दीवारों पर कोरोना से संबंधित जागरूकता स्लोगन लिखकर इसके बचाव के लिए लोगों को प्रेरित करती है।भविष्य में ऑक्सीजन की आपूर्ति हो इसके लिए वह वृक्षारोपण के कार्य में भी अपनी सहेलियों को लेकर सक्रिय भूमिका निभाती है। लोगों को अफवाहों और भ्रमित करने वाले बातों एवं समाचारों से दूर रहने के लिए अपील करते हुए उन्हें सजग बनाने में अपनी सक्रियता का परिचय देती है। इतना ही नहीं खुशबू साहू कोरोना के बचाव से संबंधित सभी काम जैसे सैनिटाइजर का उपयोग करना, मास्क लगाना, कोविड-19 के गाइड लाईन का पालन करने संबंधित बातों के लिए लोगों को मिलकर उन्हें समझाईस देती है। रायगढ़ कलेक्टर के आह्वान पर स्वच्छता जागरूकता रैली में अग्रणी भूमिका निभाते हुए स्वच्छता अभियान में भी अपने आप को समर्पित करती है। खुशबू के इन्हीं सक्रिय भूमिका को देखकर उसके कार्यक्रम अधिकारी नीति देवांगन एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला संगठक भोजराम पटेल तथा विश्वविद्यालय समन्वयक डॉ. सुशील कुमार एक्का भी सदैव इस छात्रा की गतिविधियों को प्रोत्साहित करते हैं।

Related Posts

Leave a Comment