गरीबों के नाम की अपनी दवा दुकान, फ्री में देते हैं मास्क-सैनिटाइजर सहित ये सुविधा

by bharatheadline

कोरोना संकट में जहां कुछ लोग जरूरी चीजों की किल्लत दिखा बीमार लोगों की मजबूरी का फायदा उठाने में लगे हैं। वहीं बेगूसराय जिले के समाजसेवी सुभाष कुमार ईश्वर उर्फ कंगन ने भरौल गांव में अपनी दवा दुकान पूरी तरह गरीबों के नाम कर मिसाल पेश की है। इस दवा दुकान में कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक मेडिसिन किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराई गई हैं। मरीजों को चिकित्सीय सलाह देने के लिए चिकित्सक भी दिन-रात तैनात किए गए हैं।
दवा दुकान का संचालन कंगन के पिता समाजसेवी रामाकांत ईश्वर कर रहे हैं। इस दवा दुकान में पैरासिटामोल, जिंक, विटामिन सी समेत आवश्यक सभी दवाइयों के किट जरूरतमंद लोगों के बीच मुफ्त वितरण किए जा रहे हैं। कंगन ने बताया कि यूं तो वे वर्ष 2010 से ही गरीबों की सेवा में यहां मेडिकल दुकान की व्यवस्था कर रखी है।
इधर, कोरोना से आक्रांत लोगों की पीड़ा को देखते हुए उन्होंने चिकित्सीय परामर्श के अनुरूप दवा दुकान में पर्याप्त मात्रा में इम्यूनिटी बूस्टर दवाइयां उपलब्ध करवा रहे हैं। दवा दुकान में मेडिसिन किट के अलावा जरूरतमंदों को सर्जिकल मास्क व सैनिटाइजर का भी मुफ्त वितरण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कई सामाजिक संगठनों सहित स्थानीय विधायक व अन्य जनप्रतिनिधियों को भी यहां से मास्क, सैनिटाइजर व मेडिसिन किट गरीबों के बीच वितरण कराने के उद्देश्य से मुफ्त में आपूर्ति की जा रही है।
बुधवार को विभिन्न पंचायतों में समाजसेवी सुभाष कुमार ईश्वर उर्फ कंगन की टीम ने सैकड़ों जरूरतमंद लोगों के बीच मुफ्त मेडिसीन किट, सैनिटाइजर व सर्जिकल मास्क वितरित किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रखंड के कई वार्डों में गरीब तबके के सैकड़ों लोग अब तक मास्क से वंचित हैं। मास्क के अभाव में गरीब महिलाएं व मजदूर घर से बाहर निकलने पर साड़ी के पल्लू से अपने मुंह व नाक को ढकते हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय बाजार में पैरासिटामोल, विटामिन सी व अन्य कई आवश्यक दवाइयों के नहीं मिलने पर लोगों को इस लॉकडाउन में बेगूसराय, दलसिंहसराय व समस्तीपुर के बाजारों का चक्कर काटना पड़ रहा था। समाजसेवी ने कहा कि इस कोरोना काल में भरौल में मुफ्त दवा दुकान चलाए जाने से गरीबों को बड़ी राहत मिल रही है।

Related Posts

Leave a Comment