चांपा में हुई अनोखी शादी: सप्तपदी के साथ लिया आठवां वचन

by bharatheadline

बिलासपुर। सदियों से हमारे यहां शादी की रस्मों में सात फेरे लिए जाते रहे हैं। सात वचन की तरह सात फेरे। हर फेरे का एक वचन। इनके साथ सात संकल्प भी जुड़े होते हैं। ये सारे संकल्प पति-पत्नी के रिश्तों से संबंधित हैं, लेकिन चांपा में शशिभूषण सोनी एवं पूर्व पार्षद शशिप्रभा सोनी की सपुत्री शीला के विवाहोत्सव में शादी लखन मंगलम भवन, चांपा में हुई। यह शादी एक अनूठे तरीके से हुई। इसमें सात की जगह पंडित शीतल दुबे ने सात वचनों की जगह पर वर और वधू को आठ वचनों की शपथ दिलाई।
उच्च न्यायालय बिलासपुर में अधिवक्ता अशोक कुमार स्वर्णकार के पुत्र डाक्टर अमित स्वर्णकार ने पर्यावरण संरक्षण के नाम पर आठवां वचन लेकर जीवनभर निभाने का संकल्प लिया। इन सात वचनों के साथ दो नए संकल्प पंड़ित शीतल प्रसाद दुबे ने पर्यावरण सुरक्षा व स्वच्छता संदेश के संकल्प भी जोड़े।
ज्ञात हो कि चांपा में रहने वाले शशिभूषण सोनी प्रकृति प्रेमी हैं, उन्होंने परशुराम मार्ग स्थित सोनी कालोनी, चांपा में अपने घर के आस-पास रहने वाले लोगों को पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति प्रोत्साहित किया है। उनका कहना है कि वृक्ष हमारा जीवन है। वृक्षों के अभाव से हमारा जीवन संकट में पड़ सकता है।
वृक्षों से भूमि की ऊर्वराशक्ति में वृद्धि होती हैं। वृक्ष नयनाभिराम प्राकृतिक सुंदरता के साथ साथ स्वास्थ्य प्रदान करते हैं। सबकी खुशहाल जिंदगी के लिए-पौधे जरुर लगाना चाहिए। शादी ब्याह, सगाई या अपने जन्मदिन पर स्वच्छता के साथ वनसंपदा को सम्पन्न बनाने का हमें संकल्प लेना चाहिए। उनकी इस पहल को शादी में उपस्थित हर व्यक्ति ने सराहा।

Related Posts

Leave a Comment