आज से घर- घर जाएंगी साक्षरता टीमें, इन तथ्यों का करेंगे सर्वेक्षण

by bharatheadline

रायपुर। पढ़ना लिखना अभियान के तहत प्रदेशव्यापी असाक्षरों के चिन्हांकन और सर्वे का कार्य सोमवार से शुरू हो रहा है। राज्य साक्षरता मिशन के सहायक संचालक प्रशांत कुमार पाण्डेय ने बताया कि 14 से 19 दिसंबर तक 116 विकासखंड एवं 100 नगरीय निकाय के वार्डों में किया जाएगा। इसके साथ- साथ सर्वेदल कक्षा संचालन के लिए स्वयंसेवी शिक्षक का भी चिन्हांकन करेंगे। इस कार्य के लिए सर्वे टीम कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए घर-घर दस्तक देगी और 15 वर्ष से अधिक असाक्षरों की खोज करेगी।
सभी कलेक्टरों को पूरे अमले के साथ निगरानी के निर्देश जारी कर दिया हैे। जिसके तहत प्रदेश के सभी जिलो में 14 से 19 दिसंबर 2020 के बीच एक साथ, चयनित ग्राम पंचायत, वार्ड में, असाक्षरों का चिंहांकन तथा सहयोगी दल का गठन, स्वयंसेवी शिक्षकों का चिन्हांकन, मैचिंग-बैचिंग (कौन-किसको-कहां पढ़ाएगा), मोहल्ला साक्षरता केन्द्र के लिए स्थल का चिन्हांकन, वातावरण निर्माण के लिए नारा लेखन आदि कार्य के लिए विशेष रणनीति बनाकर पूर्ण किया जाना है। राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण के संचालक डी. राहुल वेंकट ने असाक्षरों के लिए 15 वर्ष से अधिक उम्र समूह के ऐसे असाक्षरों का चिन्हांकन जो पूर्व में संपन्न् साक्षरता कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके थे, ऐसे अर्द्ध नवसाक्षर जो एनआईओएस की परीक्षा में सी श्रेणी प्राप्त किए हो और ऐसे शिक्षार्थी जो लंबे अंतराल के कारण पढ़ना-लिखना या दैनिक जीवन में उपयोगी आवश्यक जोड़-घटाना नहीं आता हो या भूल गए हो, को भी शामिल करने के निर्देश दिए हैं।
साथ ही स्वयंसेवी शिक्षक के चिन्हांकन में सेवानिवृत्त शिक्षक, पूर्व साक्षरता कार्यक्रम के समन्वयक, प्रेरक, एनजीओ के प्रतिनिधि, एनएसएस, एनसीसी, स्काउट गाइड के छात्र-छात्राएं, बीएड और डीएलएड के प्रशिक्षार्थी, पढ़ई तुंहर दुआर के मोहल्ला कक्षा में सेवा दे रहे शिक्षक, महाविद्यालयीन विद्यार्थी, सेवानिवृत्त अधिकारी- कर्मचारी, कक्षा ग्यारहवीं-बारहवीं के विद्यार्थी, स्वसहायता समूह के शिक्षित पदाधिकारी, नेहरू युवा केन्द्र के स्वयंसेवक, आंगनबाड़ी केन्द्र के कार्यकर्ता, जिला उपजेल में सेवारत शिक्षक, शिक्षित जन प्रतिनिधि, पंचायत पदाधिकारी, मनरेगा मेट, एनआरएलएम बिहान संगठन कीे सहायिका, सक्रिय महिला, महिला मंडल, युवा मंडल के उत्साही युवक- युवती, यूनिसेफ प्रायोजित कार्यक्रम के सीख मित्र इत्यादि की सेवाएं असाक्षर को साक्षर करने में लिया जाएगा।

Related Posts

Leave a Comment