हाथियों की सतत निगरानी के लिए ट्रेकिंग दल को मिले नए वाहन

by bharatheadline

बिलासपुर। कोरबा क्षेत्र में हाथियों की लोकेशन की सतत निगरानी के लिए वन विभाग को नए व तेज वाहन उपलब्ध कराए गए हैं। लेमरु हाथी रिजर्व की योजना के तहत कैम्पा मद से वाहन खरीदे गए हैं। लेमरू एलिफेंट रिजर्व में हाथियों की ट्रैकिंग के लिए दमदार इसुजू डी मैक्स वाहनों की खरीदी की गई है।
वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कैम्पा मद से इनकी खरीदी की गई हैं। लेमरू रिजर्व के अंतर्गत आने वाले पांच मंडल को एक एक गाड़िया आबंटित की गई है। दमदार इंजन वाली इस वाहन में जंगल के कटीले व उबड़-खाबड़ रास्ते मे तेज गति से चलने बेहतर सुविधाएं है। उम्दा तकनीक से लैस वाहन मिलने के बाद वनकर्मियों को हाथियों की ट्रैकिंग में मदद मिलेगी।
बिलासपुर वन वृत्त को पांच गाड़िया मिली है, जिसमें अलग अलग डिवीजन को एक एक गाड़ियां आबंटित की गई है। जिस सोच के साथ वन विभाग इस वाहन की खरीदी की गई है, उस पर वन अमला कितना खरा उतरता है। यह तो समय ही बताएगा। इस संबंध में सीसीएफ नावेद ने बताया कि लेमरू हाथी रिजर्व के लिए शासन से पांच वाहन का आबंटन हुआ है। इनमें प्रभावित प्रत्येक वन मंडल को एक वाहन उपलब्ध कराया जा रहा है। निश्चित ही इस वाहन के मिलने से हाथियों की ट्रैकिंग में मदद मिलेगी।
समय रहते सतर्क करना महत्वपूर्ण
हाथी प्रभावित क्षेत्रों में लोगों के घर, खेत और जीवन की सुरक्षा सबसे बड़ा मसला है। इस समस्या के हल के लिए दो प्रमुख उपाय हैं। पहला यह, भोजन-पानी के पर्याप्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर हाथियों को जंगल से बाहर आने रोकना और दूसरा उनकी सतत निगरानी कर लोगों को समय रहते सतर्क करना। उम्मीद की जा रही है, कि हाथियों की ट्रेकिंग कर आबादी की ओर बढ़ने की जानकारी सही समय पर सूचना भेजने की कवायद में इन वाहनों की मदद महत्वपूर्ण होगी।

Related Posts

Leave a Comment