मौसम में बदलाव के साथ रोजाना की रसोई में राहत, 50 फीसद तक गिरे सब्जियों के दाम

by bharatheadline

रायपुर। बाहरी आवक के साथ ही लोकल आवक में सुधार होने से इन दिनों रोजाना की महंगी होती रसोई से राहत मिली है। हफ्ते भर में ही सब्जियों की कीमतों में 50 फीसद तक की गिरावट आ गई है। हालांकि आलू-प्याज की थोक कीमतें गिरने के बाद भी चिल्हर में इनके दाम नहीं गिरे है।
बुधवार को शास्त्री बाजार, गोलबाजार सहित डूमरतराई स्थित थोक सब्जी बाजार में टमाटर 15 से 20 रुपये किलो, गोभी 20 रुपये किलो, पत्ता गोभी 20 रुपये किलो, बैगन 20 रुपये किलो, भिंडी 40 रुपये किलो, करेला 40 रुपये किलो तक बिका। इसी प्रकार गाजर व मटर भी इन दिनों 20 से 25 रुपये किलो हो गई है। सब्जी कारोबारियों का कहना है कि इन दिनों सब्जियों की आवक में सुधार हुआ है,उसका ही परिणाम है कि कीमतों में गिरावट आई है। कुछ समय पहले तक सब्जियों के दाम आसमान छू रहे थे। अब कीमतों में गिरावट आने से गृणियों को रसोई में थोड़ी राहत मिली है। इसके साथ ही ताजा हरी सब्जियों की आवक भी अब अच्छी होने लगी है।
हफ्ते भर पहले गोभी 40 रुपये किलो और टमाटर 30 रुपये किलो बिक रहा था,साथ ही दूसरी सब्जियों में भी तेजी थी। दूसरी ओर थोक बाजार में गिरने के बाद भी चिल्हर में आलू-प्याज की कीमतों में तेजी बनी हुई है। आलू-प्याज अभी भी 40 से 45 रुपये किलो तक बिक रहे है। कारोबारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में चिल्हर में भी इनकी कीमतों में गिरावट आएगी। थोक सब्जी व्यावसायी संघ के अध्यक्ष टी श्रीनिवास रेड्डी का कहना है कि अब आवक बढ़ने लगी है, इसके चलते ही सब्जियों की कीमतों में गिरावट आ रही है।

Related Posts

Leave a Comment