कोरोना टीकाकरण की तैयारी में जुटा स्वास्थ्य विभाग, जिले में 27 कोल्ड-चेन प्वाइंट तैयार, कर्मचारियों को दिया प्रशिक्षण

by bharatheadline

रायगढ़ : कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु जिले में कोरोना टीकाकरण की तैयारी शुरू कर दी गई है। कोविड वैक्सीनेसन के लिए सरकारी व निजी स्वास्थ्य कर्मियों को सबसे पहले प्रतिरक्षित करने की योजना है। इसके लिए ब्लाकवार डेटा फीड किया जा रहा है। इसी क्रम में कोविन (कोरोना वैक्सीन इंटेलीजेन्स नेटवर्क) पोर्टल पर प्राथमिकता के आधार पर एकत्र की गयी जानकारियों को फीड किया जा रहा है। इसी पोर्टल के माध्यम से सरकार कोविड वैक्सीनेशन के वितरण की ऑनलाइन निगरानी भी करेगी।
इसी बारे में जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में 15 दिसंबर को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की ट्रेनिंग भी रखी गई थी। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्राथमिक चिकित्सा केंद्र, सामुदायिक चिकित्सा केद्र व अस्पतालों में वैक्सीन लगाए जाने का अब तक का निर्देश है लेकिन आगे चलकर इसे सामुदायिक भवन, स्कूल भवन मे शिफ्ट करने का निर्देश मिल सकता है ताकि स्वास्थ्य केंद्रों का काम प्रभावित न हो। हर जगह वैक्सीनेशन के लिए तीन कमरे रहेंगे, जिनमें से एक वेटिंग रूम के रूप में होगा। दूसरा वैक्सीनेशन रूप और तीसरा ऑबजर्वेशन रूम ताकि वैक्सीनेशन के बाद होने वाले साइड इफेक्ट की निगरानी की जा सके। वैक्सीनेशन केंद्र में मोबाइल एंबुलेंस भी रहेगी, ताकि किसी को जरूरत पड़ने पर तुरंत अस्पताल भी शिफ्ट किया जा सके। इस बीच, दूर-दराज के इलाकों तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने के लिए वैक्सीनेशन की गाड़ियों को अभी से ठीक करवाकर रखने के लिए कहा गया है, इसलिए मेंटेनेंस भी शुरू कर दिया गया है। कोल्ड चैन का सिस्टम कैसे मैनेज किया जाएगा, इसकी भी ट्रेनिंग दी गई है। इसके अलावा आपात स्थिति में रिजर्व गाड़ियों की व्यवस्था के लिए भी कहा गया है, ताकि किसी भी सूरत में टीकाकरण कार्यक्रम की कड़ी न टूटे।
27 कोल्ड चैन बनाए गए हैं
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल ने बताया, “कोरोना वैक्सीन को स्टोरेज करने के लिए जिले में 27 कोल्ड चैन बनाए गए हैं जिसमे बरमकेला में 3, सारंगढ़ में 3, पुसौर में 1, लोइंग में 4, खरसिया में 4, तमनार में 1 घरघोड़ा में 1, लैलूंगा में 2, धरमजयगढ़ में 5, रायगढ़ शहरी क्षेत्र में 3 कोल्ड चैन बनाए गए हैं। कोरोना वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री सेल्सियस पर ही रखना है जिसके लिए ट्रेनिंग में सभी को बताया गया है।“
एस.एम.एस. के माध्यम से मिलेगी सूचना 
कोविन पोर्टल से ही लाभार्थी को एस.एम.एस. के माध्यम से सूचना मिलेगी कि उसको किस दिन और कहां पर कोविड वैक्सीन लगाई जायेगी। इसके लिए पोर्टल पर डेटा फीडिंग का कार्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा तेजी से किया जा रहा है। कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण के लिए राज्य सरकार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। सब कुछ ठीक रहा तो यह सम्भावना है कि जनवरी माह के अंत से कोविड वैक्सीनेशन का कार्य शुरू हो सकता है। जिसमें सर्वप्रथम सरकारी व निजी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रतिरक्षित किया जाएगा।
कोविन पोर्टल से होगी निगरानी 
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. भानू पटेल ने बताया, “कोविन पोर्टल पर लाभार्थियों के पंजीकरण का कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही कोरोना वैक्सीन के लिए 15 दिसंबर को बीएमओ, बीपीओ, डीपीएम, डीटीओ, मेडिकल ऑफिर्स को ट्रेनिंग दी गई है अब वे अपने मातहतों को आगे यह ट्रेनिंग देंगे कि टीका का समुचित रखरखाव, इसे कैसे और किस तरह से लगाना है। ऐसी सम्भावना है कि कोरोना की वैक्सीन इंट्रा मस्कुलर होगी एवं लाभार्थी को इसके दो डोज दिए जाने की सम्भावना है। साथ ही उन्होंने यह भी जानकारी दी कि कोविन पोर्टल के माध्यम से सरकार की ओर से टीकाकरण की ऑनलाइन निगरानी भी की जाएगी। जिसके लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं की जा रही हैं। वैक्सीन के लिए कोल्ड चैन से लेकर उसे सुदूर और जटिल इलाकों तक पहुंचाने के लिए जिला स्तर पर समन्वय समितियां भी बनाई गयीं है”।
पहले चरण में 14,250 लाभार्थी : सीएमएचओ डॉ. एसएन केसरी
इस संबंध में सीएमएचओ डॉ. एसएन केसरी ने बताया, ‘वैक्सीन कब तक यहां आएगी, इसकी  कोई पुख्ता जानकारी अभी साझा नहीं की गई है, लेकिन सभी तैयारियां कर लेने के लिए कहा गया है। 14,250 लाभार्थी हैं जिन्हें पहले चरण में कोरोना का वैक्सीन लगेगा। जिसमें 12,000 सरकारी हैं और 2 हजार के करीब प्राइवेट फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स को टीका लगेगा। कोरोना की रोकथाम की दिशा में टीकाकरण की यह तैयारी एक कारगर प्रयास साबित हो सकता है। टीकाकरण की संभावनाओं को देखते हुए जिले में भी प्रारंभिक तैयारी शुरू कर दी गई है। जिले में 27 कोल्ड-चेन प्वाइंट बनाए गए हैं तथा कोविड-19 टीकाकरण का लाभ देने के लिए स्वास्थ्य विभाग के 12,000 कर्मचारियों को पहली प्राथमिकता में रखा गया है।‘ 

Related Posts

Leave a Comment