घर में मिला बेटी का पत्र, पिता पर लगाए गंभीर आरोप, पूर्व उपसरपंच के बेटे से करवाई हत्या

by bharatheadline

इंदौर । एरोड्रम थाना क्षेत्र के रुकमणी नगर में दोहरे हत्याकांड में चौंकाने वाली कहानी सामने आई है। पुलिस को मृतक ज्योतिप्रसाद शर्मा के घर से एक पत्र मिला है। जो उसकी गायब नाबालिग बेटी ने लिखा। उसने पत्र में पिता पर मां के सहयोग से दुष्कर्म का आरोप लगाया है। अब पुलिस को इस दोहरे हत्याकांड में नाबालिग बेटी के प्रेमी धनंजय उर्फ डीजे यादव की तलाश है। उसके मिलने के बाद ही पूरी कहानी का पर्दाफाश होगा। रुकमणी नगर क्षेत्र में गुरुवार की सुबह एसएएफ में पदस्थ ज्योतिप्रसाद शर्मा और उसकी पत्नी नीलम के शव अपने कमरे में मिले। पुलिस के अनुसार दंपती के कमरे का दरवाजा नहीं खुलने पर दादा-दादी के साथ सोए बेटे ने पिता को आवाज लगाई लेकिन कमरा नहीं खुला। इसके बाद उसने कमरे में झांक कर देखा तो उसके होश उड़ गए। उसके पिता और मां कमरे में लहूलुहान हालत में पड़े थे। उसने पड़ोसियों की मदद से तत्काल एरोड्रम थाने को सूचना दी। सूचना मिलते ही आला अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए।
पुलिस जांच में पता चला कि हत्याकांड को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया। आरोपित और दंपती के बीच जमकर संघर्ष के निशान भी मिले। दंपती के शवों पर धारदार हथियार (पका) के गहरे घाव मिले। शवों के साथ छेड़छाड़ की बात भी सामने आई है। पुलिस अधिकारी उस समय सकते में आ गए जब उन्हें नाबालिग बेटी का पत्र भी मिला। जिसमें उसने पिता पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। पत्र में लिखा है कि मां के सहयोग से पिता दुष्कर्म करता था। मैं अब घर छोड़कर जा रही हूं। मुझे तलाशने की कोशिश मत करना। पत्र मिलने के बाद पुलिस को पूछताछ में पता चला कि नाबालिग बेटी का पूर्व उपसरपंच धनंजय से प्रेम-प्रसंग था। इसके बाद पुलिस का हत्याकांड में धनंजय के शामिल होने की बात पुख्ता हो गई है। उसकी गिरफ्तारी के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो पाएगा।

Related Posts

Leave a Comment