कयाघाट,मालीडीपा,चांदमारी व कृष्णापुर में लगा चलित ओ पी डी का शिविर, निगम के प्रभारी आयुक्त ने भी कराई जांच

by bharatheadline

रायगढ़। जिला कलेक्टर भीम सिंह के निर्देशन में नगर निगम के प्रभारी आयुक्त अभिषेक गुप्ता ने श्रम स्वास्थ्य योजना अंतर्गत शहर में चल रहे मोबाइल मेडिकल यूनिट का सघन निरीक्षण किया और व्यवस्था का जायजा लिया ।
ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत चलित ओपीडी चलाई जा रही है जो नगर निगम द्वारा संचालित की जाती है का जिला कलेक्टर भीम सिंह के निर्देशन में निगम के प्रभारी आयुक्त अभिषेक गुप्ता एवम वाहन प्रभारी सूरज देवांगन द्वारा सघन निरीक्षण किया गया सुबह 9 से 4 तक चलने वाली एमएमयू आज गुरुवार को कयाघाट मालिडीपा मोदीनगर चनवारी एवं कृष्णापुर में स्वास्थ्य सुविधा देने हेतु लगाई गई, जिसे आयुक्त ने बारी-बारी से सभी वार्डों में जाकर जायजा लिया, डॉक्टर, लैब टेक्नीशियन, दवा वितरक से मिलकर पूर्ण जानकारी ली एवं सुविधाओं में इजाफा करने निर्देशित भी किया, मरीजों से भी मेडिकल गाड़ी की सुविधा की जानकारी लेकर अपने आसपास के लोगों को बताने कहा,तो वही स्वयं भी ब्लड टेस्ट चेकअप के साथ डॉक्टर से अपना भी जांच कराया और दवा भी लिया।
चंदनी निषाद ने कहा-मेडिकल गाड़ी में सुविधा अच्छी है
जांच कराने आये चंदनी निषाद ने बताया कि हमे जानकारी मिली कि नगर निगम से मेडिकल गाड़ी आ रही है जिसमे नि:शुल्क जांच के साथ इलाज कर दवा दिया जा रहा है मैं अपनी परेशानी दिखाने आई और जांच भी कराई ,डॉक्टर नर्स एवम पूरी टीम अच्छे लगे,बढिय़ा सलाह देते हुए पुन: दिखाने भी कहा,सुविधा अच्छी लगी।
इलाज के साथ मजदूर कार्ड भी बनाया जा रहा-मालती
वार्ड के मालती ने बताया कि मेडिकल गाड़ी के बारे में मोहल्लेवासियों से जानकारी मिली थी जांच कराने आया डॉक्टर नर्स का ब्यवहार बहुत बढिय़ा है, अच्छा जांच किये मैं कुछ समय से परेशान थी,कोरोना के वजह से कही जा नही पा रही थी घर के सामने गाड़ी आई तो इलाज मिल गया।नि:शुल्क दवा भी मिला,साथ ही मजदूर कार्ड का जानकारी मिला। निगम आयुक्त ने बताया कि छत्तीसगढ़ शासन की स्लम स्वास्थ्य योजना अंतर्गत मोबाइल मेडिकल यूनिट नगर निगम द्वारा संचालित है कलेक्टर सर के निर्देशन में मैंने चारों बस यूनिट का निरीक्षण किया बहुत अच्छी व्यवस्था है लोगों को अपने घर के दरवाजे में स्वास्थ्य सुविधा मिल रही है दवा भी फ्री में मिल रही है साथ ही मजदूर कार्ड के लिए दस्तावेज भी लिए जा रहे हैं मैंने स्वयं अपनी छोटी सी परेशानी को डॉक्टरों से जांच करा कर दवा भी लिया।

Related Posts

Leave a Comment