आज रात धरती के करीब से गुजरेगा स्टैचू ऑफ लिबर्टी जितना बड़ा ऐस्टरॉइड

by bharatheadline

25 दिसंबर की रात जब पूरी दुनिया क्रिसमस को जश्न में डूबी होगी, तब एक विशालकाय ऐस्टरॉइड (क्षुद्रग्रह) धरती की तरफ बढ़ेगा। अच्छी बात यह है कि स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी या दो फुटबॉक ग्राउंड के आकार का यह ऐस्टरॉइड धरती से सुरक्षित दूरी से गुजर जाएगा। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा इस पर नजर रखे हुए है। अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के मुताबिक, ऐस्टरॉइड का नाम SD224 है। इस ऐस्टरॉइड के बारे में पहली बार साल 2014 में पता लगा था। यह करीब 36000 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धरती की ओर बढ़ रहा है और इसी गति से धरती से करीब से गुजर जाएगा। इसकी लंबाई करीब 200 मीटर मापी गई है। इस ऐस्टरॉइड के साथ ही दो अन्य ऐस्टरॉइड भी शुक्रवार रात ही धरती से गुजरेंगे। इसका नाम XE133 है। 120 मीटर मोटाई वाले इस ऐस्टरॉइड का पता 2012 में लगा था। आकार छोटा होने के कारण इनसे धरती को कोई खतरा नहीं होगा।
नासा के मुताबिक, क्षुद्रग्रह को “संभावित खतरनाक” नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट (NEO) माना गया है और इसे अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा ट्रैक किया जा रहा है। हालांकि, नासा का कहना है कि यह क्षुद्रग्रह मनुष्यों के लिए कोई खतरा नहीं है।
नासा के वैज्ञानिकों के मुताबिक, यह ऐस्टरॉइड 25 दिसंबर, शुक्रवार की रात 8.20 बजे धरती के सबसे करीब होगा। यह धरती से लगभग 30 लाख किलोमीटर की सुरक्षित दूरी से गुजर जाएगा। यानी धरती को इस ऐस्टरॉइड से कोई खतरा नहीं है। बता दें, हाल के वर्षों में धरती की ओर खतरनाक तरीके से बढ़ने वाले ऐस्टरॉइड की संख्या बढ़ गई है। साल 2020 में भी कई ऐस्टरॉइड धरती के करीब से गुजरे।
इससे पहले 30 नवंबर की रात भी एक ऐस्टरॉइड धरती के करीब से गुजरा था। भारतीय समयानुसार रात 1.08 बजे धरती के पास से गुजरे इस विशाल उल्कापिंड की गति स्पीड 92000 KM प्रति घंटा थी। वहीं 7 अक्टूबर को भी ऐसे ही एक उल्कापिंड धरती के करीब से गुजरा था।

Related Posts

Leave a Comment