अगले 24 घंटों में कई राज्‍यों में बारिश, बर्फबारी, शीतलहर की आशंका, देखें नाम

by bharatheadline

अगले 24 घंटों के दौरान केरल में कुछ स्थानों पर वर्षा हो सकती है। उत्तर भारत के राज्यों में 26 दिसंबर से एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ आएगा जिसके चलते कुछ स्थानों पर अच्छी वर्षा देखने को मिल सकती है। हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार में शीतलहर और कोहरे की मार की संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से मैदानी इलाकों पर भी एक सर्कुलेशन विकसित हो सकता है। अनुमान है कि 26 और 27 दिसम्बर को जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख और उत्तराखंड में कुछ स्थानों पर वर्षा तथा बर्फबारी हो सकती है। भारी हिमपात के कारण कुछ पहाड़ी क्षेत्रों में हिमस्खलन और भूस्खलन की घटनाएँ भी होती हैं। साथ ही सड़कों पर भारी बर्फ जमा होने के कारण रास्ते बंद हो जाते हैं। बर्फबारी का नज़ारा गुलमर्ग, कुलगाम, पहलगाम, श्रीनगर, लाहौल स्पीति, शिमला, ऊना, धर्मशाला, बद्रीनाथ, केदारनाथ, चमोली जैसे कई हिल स्टेशनों पर मिल सकता है।
मौसम विभाग ने 24 से 30 दिसंबर तक के लिए अपने पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर-पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से 2-6 डिग्री सेल्सियस नीचे रहेगा। आने वाले तीन दिन ऐसी ही कड़ाके की ठंड पड़ने के आसार हैं। उच्च पर्वतीय इलाकों में हलका हिमपात व बारिश हो सकती है। उत्‍तर भारत से लेकर मध्‍य भारत के राज्‍य तो शीतलहर से कांप उठे हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले सप्ताह तक ऐसी ही ठंड की स्थिति बने रहने का अनुमान जताया है। एक हफ्ते बाद कुछ राहत मिलने की उम्मीद की जा सकती है। इस समय कड़ाके की सर्दी का अनुभव किया जा रहा है। शीतलहर के कारण मैदानों से लेकर पहाड़ों तक कड़ाके की ठंड चल रही है। मौसम के जानकारों का कहना है कि आगामी एक सप्‍ताह तक अभी ऐसे ही हालात रहने वाले हैं। मध्य प्रदेश के पूर्वी भागों और विदर्भ में एक-दो स्थानों पर शीतलहर जारी रहने की संभावना है। जबकि उत्तर भारत के शहरों में तापमान और बढ़ेगा जिससे सर्दी और कम हो जाएगी। बिहार और उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर घना कोहरा जारी रहने की संभावना है। पूर्वी उत्तर प्रदेश विषेशरूप से घने कोहरे वाला क्षेत्र होगा। उत्तर भारत के अधिकतर शहर शीत लहर (Cold Wave) की चपेट में हैं। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, तथा महाराष्ट्र में भी अब शीतलहर की संभावना है। दिल्‍ली में सर्दी गहराती जा रही है। अगले 3 दिनों तक दिल्ली के लोगों को इस भीषण सर्दी से राहत मिलने की संभावना नहीं है। मध्य प्रदेश में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है।
तापमान शून्‍य तक जाएग तो पाला पड़ने का खतरा
देश के उत्तर मध्य भागों पर लगभग एक सप्ताह से बर्फीली हवाएं अपना असर दिखा रही हैं जिससे उत्तर भारत के अधिकांश शहरों में पारा लगातार नीचे जा रहा है। अब असर मध्य भागों में दिखाई देने लगा है। अनुमान है कि अगले दो-तीन दिनों के दौरान कुछ स्थानों पर पारा 2 डिग्री या उससे भी नीचे पहुंच सकता है। कहीं-कहीं पर शून्य के करीब भी पहुंच जाएगा तापमान जिससे पाला पड़ने की भी आशंका है। दिल्ली में आगामी 3 दिनों के दौरान कुछ स्थानों पर कोहरा शुरू हो सकता है अगर कोहरा बढ़ता है तो दिन के तापमान में इसी तरह की कमी रहेगी।
कोल्‍ड डे का रहेगा असर, जानिये यह क्‍या है
देश के मैदानी भागों में जब अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकॉर्ड किया जाता है तब उस दिन को कोल्ड दे कहा जाता है। यानी दिन में भी शीतलहर का प्रकोप देखा जाता है। दिल्ली के अलावा पिछले 24 घंटों में जिन शहरों में अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकॉर्ड किया गया उनमें अलीगढ़, हिसार, शाहजहांपुर, मेरठ, लुधियाना, चंडीगढ़, करनाल, अंबाला, अमृतसर, रोहतक, बरेली शामिल है। 18 दिसंबर को राजस्थान के चूरू में तापमान शून्य से नीचे पहुंच गया। अमृतसर, सीकर, नारनौल, पिलानी, भीलवाड़ा, नलिया, फुरसतगंज, हिसार, दतिया, करनाल, लुधियाना, बरेली, चित्तौड़गढ़ में भी भीषण सर्दी का आलम रहा।

Related Posts

Leave a Comment