कमरे में सो रहे 9 कर्मचारियों पर गार्ड ने चलाई गोलियां, एक की मौत और दो घायल

by bharatheadline

गाजियाबाद के कविनगर थाने के औद्योगिक क्षेत्र में स्थित एक कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड ने अपनी लाइसेंसी गन से कंपनी में कार्यरत लोगों पर कमरे के अंदर सोते समय खिड़की से फायरिंग कर दी। इसमें एक व्यक्ति की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई, जबकि दो अन्य व्यक्ति घायल हो गए। पुलिस ने आरोपी को लाइसेंसी गन के साथ गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार, बिहार के रहने वाले राजू पुत्र श्याम ने मंगलवार तड़के करीब 3.30 से चार बजे के सूचना दी कि औद्योगिक क्षेत्र की एक कंपनी में गार्ड ज्ञानेंद्र सिंह निवासी फर्रुखाबाद ने अपनी लाइसेंस गन से कंपनी में कार्यरत उन लोगों पर जो एक कमरे के अंदर सो रहे थे, अकारण ही उन पर सोते समय खिड़की से अंदर फायरिंग कर दी। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने देखा कि फायरिंग में राजू, उमेश व विजय छर्रे लगने से घायल हो गए हैं। तीनों घायलों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां रास्ते में ही घायल राजू की मौत हो गई, जबकि इसके अन्य दो साथियों का अस्पताल में इलाज किया गया। जिसके बाद अब इनकी हालत खतरे से बाहर है।
वहीं, इस घटना के बाद गार्ड को पकड़ने के लिए तुरंत पुलिस टीम का गठन किया गया, जिसने कंपनी के गार्ड को औद्योगिक क्षेत्र से ही गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसके पास से लाइसेंसी सीबीबीएल गन और 18 कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि गार्ड ने अपनी लाइसेंसी गन का गलत इस्तेमाल किया। वहीं, पुलिस आरोपी के आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है।
स्थानीय लोगों का कहना है कि गार्ड मानसिक रूप से परेशान रहता था। वह रात्रि के समय अकेला ही बोलता रहता था। ऐसे में सवाल उठता है कि मानसिक रूप से परेशान गार्ड को गन के साथ नौकरी पर रखा ही क्यों गया था।

कमरे में नौ लोग मौजूद थे
कविनगर थाना प्रभारी ने बताया कि जिस कमरे की खिड़की से गार्ड ने फायरिंग की थी, उस कमरे में करीब नौ कर्मचारी सो रहे थे। हालांकि, इस फायरिंग की रेंज में तीन लोग ही आ सके, जिसमें से एक की मौत हो गई।

Related Posts

Leave a Comment