रसूखदार बेजा कब्जाधारियों पर मेहरबान प्रशासन, नहीं हटाया जा सका ,स्कूल खेलमैदान से बेजाकब्जा, महापल्ली मिनी स्टेडियम निर्माण का मामला

by bharatheadline

रायगढ़। रायगढ़ पूर्वी अंचल का एकमात्र स्कूली खेल मैदान जिसकी रकबा 4 एकड़ 7 डिसमिल में फैला हुआ है ,जिस पर रसूखदार अतिक्रमणकारियो ने मकान बाड़ी बनाकर अवैध कब्जा कर लिया है ।
खेल एवम युवा कल्याण मंत्रालय द्वारा उक्त खेल मैदान में मिनी स्टेडियम निर्माण की स्वीकृति के बाद लोकनिर्माण विभाग को इसकी कार्य एजेंसी दी गयी थी। खेलमैदान के सीमांकन के बाद लगभग डेढ़ एकड़ भूमि में स्थानीय रसूखदार लोगो द्वारा कब्जा किये जाने की जानकारी के बाद लोकनिर्माण विभाग रायगढ़ ने तहसीलदार रायगढ़ को पत्र लिखकर कब्जा हटाकर भूमि प्रदान करने की मांग की गई थी ।लोकनिर्माण विभाग के आवेदन एवम हल्का पटवारी के प्रतिवेदन के आधार पर 22 बेजाकब्जा धारियों को नोटिस जारी की गई तथा मामला आज भी लंबित पड़ा हुआ है। ग्राम पंचायत महापल्ली के सरपंच एवम खेलप्रेमियों द्वारा कलेक्टर भीमसिंह से मिलकर स्कूली मैदान से बेजाकब्जा हटवाकर मिनिस्टेडियम निर्माण करने की मांग की थी जिसपर कलेक्टर भीमसिंह ने तहसीलदार रायगढ़ को बेजाकब्जा हटवाने के निर्देश दिए थे। नायाब तहसीलदार रायगढ़ पुष्पेंद्र राज के न्यायालय में मामला भी पंजीबद्ध कर कारण बताओ नोटिस दी गयी थी । कलेक्टर रायगढ़ के आदेश के बाद भी आज पर्यंत नायाब तहसीलदार ने बेजाकब्जा हटवाने कोई दिलचस्पी नही ली और न ही किसी तरह का आदेश जारी किया गया है। लोकनिर्माण विभाग रायगढ़ के अधिकारियों के सह पर खेलमैदान के चारों ओर रसूखदार बेजाकब्जा धारियों के सुविधा के लिए सड़क छोड़ दिया गया है। एक तो स्कूली मैदान में जबरिया कब्जा दूसरी ओर दादागिरी के साथ अपने पानी निकासी ,वाहन निकासी के लिए स्कूल जमीन रास्ता छोडवा दिया गया है। मैदान के चारो ओर घेराव कर दिया गया है।उधर बेजाकब्जा को लेकर तहसील कार्यालय में रायगढ़ में लंबित मामला भी ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। कुलमिलाकर रसूखदार बेजाकब्जा धारियों के आगे जिला प्रशासन घुटने टेक दिए और स्कूली खेल मैदान को सुरक्षित नही रख पायी ।तेज तर्रार और नियमो के पक्के कलेक्टर भीमसिंह के कब्जा हटवाने के बाद भी नायाब तहसीलदार द्वारा आदेश का दरकिनार करना किसी राजनीतिक हस्तक्षेप से इनकार नही किया जा सकता । महापल्ली मिनिस्टेडियम निर्माण में स्कूली जमीन पर बेजाकब्जा को लेकर नायब तहसीलदार पुष्पेंद्र राज से जब इस संवाददाता ने बात किया तो उन्होंने कहा कि मामला लंबित है ,नोटिस तामील हुआ या नही यह फाइल देखने पर ही पता चलेगा। वही तहसीलदार के बाबू ने कहा कि इस मामले की फाइल कहा है ,यह खोजने में समय लगेगा।

Related Posts

Leave a Comment