अवैध शराब की बिक्री लगातार जारी, आबकारी विभाग कर रहा है खानापूर्ति, चहेतों को बचाने लिए होता है लंबा खेल

by bharatheadline

रायगढ़. रायगढ़ शहर सहित जिले के ब्लाक से लेकर ग्रामीण इलाकों में देशी व विदेशी शराब की अवैध बिक्री लगातार जारी है। कहने को तो आबकारी विभाग पुलिस टीम के साथ मिलकर मामले बनाने में लगा है लेकिन बड़े तस्करों को दबोचने की बजाए छोटे-छोटे लोगों पर कार्रवाई करके आबकारी विभाग के कुछ अधिकारी अपनी जेबे भरने में लगे हुए है। इसके कई उदाहरण है जिससे यह बात साफ हो जाती है कि कैसे आबकारी विभाग के फिल्ड में तैनात अधिकारी बड़े शराब तस्करों के साथ मिलकर अवैध शराब की बिक्री को हवा दे रहे हैं। दो दिन पहले ही रायपुर में शराब की बड़ी खेप पकड़ाए जाने के बाद राज्य शासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आबकारी के दो लोगों को लापरवाही में शामिल पाए जाने के बाद कार्रवाई की है, लेकिन रायगढ़ में ऐसा अभी तक नही हुआ है। एक नही, दो नही बल्कि दर्जनों मामले ऐसे हैं जिनमें शराब तस्कर पर कार्रवाई तो हुई लेकिन उसमें दोषी लोग साफ बच गए।
इस पूरे मामले में हमने जिले की सहायक आबकारी अधिकारी मंजूश्री कसेर से भी बातचीत करने की कोशिश की लेकिन हमेशा की तरह वे अपने कार्यालय में होनें के बावजूद भी किसी भी बात की जानकारी देने के लिए उपलब्ध नही हो रही थी। इतना ही नही रायगढ़ जिले के शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में एक के बाद एक पकड़ी जाने वाली शराब के मामले में भी पूरे आबकारी विभाग ने चुप्पी साध ली है चूंकि दुकानों से निकलने वाली शराब कोचियों तक पहुंचने की एक बड़ी मिलीभगत में शामिल आबकारी के कुछ फिल्ड के अधिकारी इस मामले में अभी भी अपने लोगों को बचाकर उन लोगों पर कार्रवाई कर रहे हैं जिनसे उनकी आय नही हो पा रही है। कहने को तो ओडिसा सीमा से आने वाली विदेशी शराब आसपास के इलाके में तेजी से खप रही है, लेकिन पकड़े वो लोग जाते हैं जिन्हें सेटिंग का नियम तक नही मालूम। इसलिए रायगढ़ जिले में अवैध शराब की बिक्री का खेल बस्तूर जारी है, जबकि इस पूरे मामले मंे पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के मार्गदर्शन में ताबड़तोड कार्रवाई करते हुए रोजाना आधा दर्जन से भी अधिक प्रकरण बनाकर तस्करी में शामिल लोगों के लिए उपर एफआईआर कर रहा है, लेकिन आबकारी विभाग एक्के-दुक्के मामले में छोटे-मोटे प्रकरण बनाकर मामले में अपनी उपस्थिति तो दर्शा रहा है लेकिन हकीकत से कोसा परे अपने लोगों को बचाने के लिए बड़े तस्करों को शह भी दे रहे हैं।

Related Posts

Leave a Comment