जल है तो कल है आइए मिलकर बचाये :- विलिस गुप्ता,जल सरंक्षण दिवस पर मिलकर संकल्प लेने का आह्वानजल सरंक्षण दिवस पर मिलकर संकल्प लेने का आह्वान

by bharatheadline

रायगढ :- औद्योगिकरण की वजह से पर्यावरण प्रदूषित होकर बिगड़ रहा है अंधाधुंध औद्योगिकरण की वजह से भू जल स्तर तेजी से नीचे गिर रहा है l जिला भाजपा महामंत्री एवं भू जल वैज्ञानिक व जल सरंक्षण विशेषज्ञ विलिस गुप्ता* ने प्रेस विज्ञप्ति के जरिये जन मानस आज कल सरक्षण दिवस पर छोटे प्रयासो को जीवन मे उतारने का अनुरोध किया है ताकि आने वाली पीढ़ी के लिए हम जल बचा सके है l जिले के भू जल वैज्ञानिक व जल सरंक्षण विशेषज्ञ विलिस गुप्ता ने विश्व जल सरंक्षण दिवस पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने की अनिवार्यता पर जोर देते हुए कहा कि प्रत्येक निर्माण में हार्वेस्टिंग सिस्टम अनिवार्य रूप से लगाया जाए l यह छोटा सा प्रयास ही हमे जल सरंक्षण हेतु प्रेरित करेगा l अब तक बहुत से संस्थानों में जल सरंक्षण हेतु वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने हेतु प्रेरित करने वाले भू जल वैज्ञानिक विलिस गुप्ता का मानना है कि जल सरंक्षण के लिए सिर्फ सरकारी प्रयास पर्याप्त नही बल्कि इस हेतु समाजिक स्तर पर प्रयास किये जाने चाहिए l
जल ही जीवन है आज जल सुरक्षित है तो कल का भविष्य सुरक्षित होगा l जल सरक्षण दिवस पर हम जल को बचाने के उपायों को लागू करने का एकजुट होकर प्रयास करे l हम सभी मिलकर जल संरक्षण का असली महत्व समझकर उसे अपने जीवन में शामिल करें और उसके प्रति कृतज्ञ रहे l एक दौर ऐसा रहा जब जगह-जगह नदियां, तालाब, नहर, कुएं दिखाई देते थे, लेकिन औद्योगीकरण की राह पर चल पड़ी इस नई दुनिया के लोगो ने यह दृश्य काफी हद तक बदल दिया है l तालाब, कुएं, नहर वगैरह सूखते जा रहे हैं l नदियों का पानी दूषित होने के साथ कम होता जा रहा है l जल संकट गहराता जा रहा है l जिला भाजपा महामंत्री विलिस ने स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेई जी के बयान का स्मरण भी दिलाया उन्होंने कहा था कि आग पानी में भी भी लगती है और कहीं ऐसा न हो कि अगला विश्वयुद्ध पानी के मसले पर हो जाए l धरती का करीब तीन चौथाई हिस्सा पानी से भरा हुआ है. लेकिन इसमें से सिर्फ तीन फीसदी हिस्सा ही पीने योग्य है. तीन फीसदी में से दो प्रतिशत बर्फ और ग्लेशियर के रूप में है l . ऐसे में सिर्फ एक फीसदी पानी ही प्राणी के लिए पीने के योग्य है l विकास के नाम पर अंधाधुंध निर्माण से प्रकृति को बड़ा नुकसान पहुंचा है l अंधाधुंध पेड़ कटाई हो रही लेकिन वृक्षारोपण नही किया जा रहा l कारखानों से निकलने वाला कचरा नदियों में जाता है, जिस वजह से पानी भी दूषित हो रहा है l पेड़ पौधों की कमी से ऑक्सीजन की कमी हो रही है l इस वजह से जल स्तर नीचे जा रहा है l विलिस गुप्ता ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि पानी संचय, संरक्षण और सुरक्षा के प्रति जागरुक नहीं हुए तो भविष्य में इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे l भाजपा नेता विलिस गुप्ता ने कहा कि पानी की बर्बादी को रोकने हेतु पानी की महत्ता को समय रहते समझना आवश्यक है l वर्षा का पानी जमीन के अंदर जाए या हेतु वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम अनिवार्य रूप से लगाया जाए l पानी को व्यर्थ में बहने से रोका जाए l

Related Posts

Leave a Comment