चार फुट जमीन के लिए फावड़े से गला काटकर की बड़े भाई की हत्‍या, खुद थाने पहुंचकर बोला-‘मुझे गिरफ्तार कर लो’

by bharatheadline

उत्‍तर प्रदेश के आजमगढ़ के आदर्श नगर बरई टोला मोहल्ले में एक भाई ने चार फुट जमीन के लिए अपने बड़े भाई को बड़ी निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया। भाई ने बड़े भाई की गर्दन पर फावड़े से तब वार किया जब वह सो रहे थे। मिली जानकारी के अनुसार हत्‍या के बाद आरोपी ने जीयनपुर थाने पहुंचकर आत्‍मसमर्पण कर दिया। उसने पुलिस से कहा, ‘मैने अपने भाई को मार डाला है। मुझे गिरफ्तार कर लें।’
हालांकि पुलिस आत्मसमर्पण से इंकार कर रही है। मृतक के बड़े बेटे संजय चौरसिया की तहरीर पर पुलिस ने कैलाश चौरसिया पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। बताया जा रहा है कि दोनों भाइयों के बीच चार फुट जमीन का विवाद काफी दिनों से चला आ रहा था। जिसमें कई बार पंचायत भी हो चुकी है। पर मामला नहीं सुलझा, जिस पर दोनों ने दीवानी न्यायालय में वाद दायर करा दिया। चार अप्रैल को सुनवाई होनी थी ले‍किन उसके पहले ही छोटे ने बड़े भाई की हत्‍या कर दी।
बताया जा रहा है कि बरदौल की एक जमीन है जिसपर मेवा लाल चौरसिया को प्रधानमंत्री आवास का पैसा की प्रथम किस्त आई हुई थी। बरदौल में ही मेवालाल चौरसिया द्वारा बुधवार की शाम नीव खोदी गई और एक पिलर ढाला गया। इसी को लेकर दोनों भाइयों के बीच कहासुनी और झगड़ा हुआ था। रात में मेवा लाल चौरसिया नींव के पास चारपाई लगा कर सो गया।तभी अचानक रात में लगभग एक बजे कैलाश चौरसिया ने फावड़े से मेवालाल की गर्दन, चेहरे और हाथ पर बुरी तरह से प्रहार कर दिया जिससे मेवालाल की मौके पर ही मौत हो गई।
शोर सुनकर परिजन जागे और चीख-पुकार मच गई। उधर, कैलाश चौरसिया फावड़ा लेकर भाग गया और कोतवाली में जाकर आत्मसमर्पण कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा बनाकर रात में ही पोस्टमार्टम के लिए सदर हॉस्पिटल भेज दिया। मेवालाल चौरसिया के तीन बेटे संजय,अजय और विजय हैं। जबकि पत्नी का नाम भानमती चौरसिया है। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। वही रिश्ते को कलंकित करने वाले भाई की पूरे बाजार में थू थू हो रही है। मेवालाल के बड़े बेटे संजय चौरसिया की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Related Posts

Leave a Comment