सड़क निर्माण में लगे 17 वाहनों को नक्सलियों ने किया आग के हवाले

by bharatheadline

रायपुर। जिले के केशकाल ब्लाक के धनोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले कुएंमारी इलाके में नक्सलियों ने गुरुवार को सड़क निर्माण कार्य में लगे वाहनों को आग लगा दिया। नक्सली बटराली से चेरबेड़ा तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क का निर्माण का विरोध कर रहे हैं।
निर्माण कार्य में लगे सुपरवाइजर के अनुसार लगभग 20 की संख्या में नक्सली सादे कपड़ों में आए थे। इनमें एक महिला नक्सली भी शामिल थी। पहले नक्सलियों ने सिर पर बंदूक टिकाकर सबका नाम-पता पूछा। इसके बाद ठेकेदार की जानकारी ली।
फिर काम बंद करने की चेतावनी देते हुए दो पोकलेन, छह हाइवा, सात ट्रैक्टर, एक वाइब्रो मशीन और एक शिफ्टर मशीन को आग के हवाले कर दिया। एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने घटना की पुष्टि की है। पुलिस का कहना है कि घटनास्थल पर टीम पहुंची और मौका मुआयना करके आगे की कार्रवाई कर रही है।
इधर, सूत्रों का कहना है कि छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल प्रभावित इलाकों में अगले तीन महीने फोर्स के लिए बेहद अहम होंगे, क्योंकि नक्सली इन दिनों टेक्टिकल काउंटर अफेंसिव कैंपेन (टीसीओसी) चला रहे हैं। नक्सली हर साल मार्च से लेकर जून-जुलाई तक बड़े हमले करते हैं
दरअसल इस दौरान जंगल में पतझड़ का मौसम होता है, जिससे दूर तक देखना आसान होता है। साथ ही नदी-नाले सूखने से एक जगह से दूसरी जगह जाना भी आसान होता है। पुलिस भी जानती है कि नक्सली इस दौरान बड़ी वारदात करने की कोशिश जरूर करेंगे।
यही वजह है कि लगातार आपरेशन चलाया जा रहा है। हालांकि आपरेशन के दौरान ही नारायणपुर में बड़ी चूक हो गई। नारायणपुर आइईडी ब्लास्ट में पांच जवानों की शहादत के बाद पुलिस अधिकारियों ने नई रणनीति पर मंथन शुरू कर दिया है। डीजीपी डीएम अवस्थी लगातार बस्तर के अधिकारियों के संपर्क में हैं। जवानों का मनोबल बढ़ाने और नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने की योजना बनाई जा रही है।

Related Posts

Leave a Comment