कई राज्‍यों में आंधी, बारिश, ओलावृष्टि सहित बाढ़ की आशंका, देखें नाम

by bharatheadline

मार्च के महीने में भी कई राज्‍यों से तेज बारिश और ओलावृष्टि की खबरें सामने आ रही हैं। मौसम का ताजा अनुमान कहता है कि अभी अगले सप्‍ताह हालात नहीं सुधरने वाले। अभी मौसम बिगड़ेगा और कई राज्‍य इससे प्रभावित होंगे। भारतीय मौसम विज्ञान (आईएमडी) ने चेतावनी दी है कि पूर्वोत्तर राज्यों असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम में भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि एक अप्रैल तक 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने के साथ भारी बारिश हो सकती है। इसके अलावा बादल गरजने के साथ ही आसमान में बिजली भी चमकेगी। आईएमडी ने पूर्वानुमान लगाया है कि मौसम में आए इस बदलाव से दक्षिण असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम में कुछ स्थानों पर निचले इलाकों में भूस्खलन और बाढ़ भी आ सकती है।देश में मौसम बहुत बदल रहा है। बंगाल की खाड़ी से निचले स्तर की दक्षिण-पूर्वी हवाओं के प्रभाव के तहत, 29 मार्च, 30 और 31 मार्च, 2021 को अधिकतम गतिविधि के साथ पूर्वोत्तर भारत में अलग-अलग स्थानों पर गरज / हल्की बारिश के साथ व्यापक रूप से व्यापक वर्षा होने की संभावना है। 29 मार्च और 01 अप्रैल को अलग-थलग अलग-अलग स्‍थानों पर मौसम का बदला मिजाज देखा जा सकता है। 30 से 31 मार्च को भारी से भारी मात्रा में बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हो सकती है। दक्षिण असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम में आमतौर पर ऐसा मौसम नहीं रहता है लेकिन यहां भी मौसम में बदलाव देखा जा सकता है।
स्‍कायमेट वेदर के अनुसार, अगले 24 घंटों के दौरान, केरल और अंदरूनी तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। अब नॉर्थ ईस्ट इंडिया पर बारिश की गतिविधियां बढ़ेंगी। अगले 24 घंटों के दौरान, उत्तर-पश्चिम से आने वाली तेज़ धूल भरी हवाएँ 30 मार्च से उत्तरी मैदानों पर शुरू हो जाएंगी। हल्की से मध्यम बारिश और गरज चमक के साथ पश्चिमी हिमालय पर अगले 24 घंटों तक जारी रहने की उम्मीद है। 01 अप्रैल, 2021 को अरुणाचल प्रदेश में अलग-थलग पड़ने की संभावना है। यह 30 मार्च-01 अप्रैल, 2021 के दौरान दक्षिण असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम में कुछ स्थानों पर निचले इलाकों में भूस्खलन और बाढ़ का कारण बन सकता है। असम और मेघालय और नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में 29 मार्च-01 अप्रैल, 2021 के दौरान वज्रपात, बिजली और आंधी हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे तक की गति) की संभावना है।

ज़ोरों से चलेगी धूल भरी आंधी
कई राज्यों में तापमान में तेजी से वृद्धि हो रही है तो कहीं भारी बारिश, भूस्खलन व धूलभरी आंधी की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में 29 मार्च की होली का दिन सबसे ज्यादा गर्म दिन दर्ज किया गया था। दिल्ली में कल इतनी गर्मी रही कि इसके चलते पहली हीट वेव (Heat Wave) भी चली। वहीं दिल्ली-एनसीआर का मौसम मंगलवार अचानक दोपहर बाद बदल गया। आसमान में बादल छा गए और कुछ इलाकों में धूल भरी आंधी चल रही है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में अगले 48 घंटों तक ऐसा ही मौसम बना रहेगा। 40 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा चलेगी। हालांकि इस बदले मौसम से लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली सहित गंगा के मैदानी क्षेत्रों में अगले दो-तीन दिनों तक उत्तर पश्चिम दिशा से तेज धूलभरी हवाएं चलेंगी। दिन के तापमान में गिरावट के आसार हैं।

24 घंटों में यहां बढ़ेगा तापमान
स्‍कायमेट वेदर के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान, उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान में वृद्धि होगी। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिम उत्तर प्रदेश में 2 से 3 डिग्री की गिरावट की संभावना है। अगले 24 घंटों के दौरान, राजस्थान और गुजरात में हीटवेव जारी रहेगी। ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल की पृथक जेब भी हीटवेव की स्थिति में आ सकती है।

Related Posts

Leave a Comment