चोरी का झूठा आरोप लगाकर युवक की हुई पिटाई, पीड़ित न्याय की गुहार लगाने पहुंचा एसपी कार्यालय

by bharatheadline

रायगढ़. चोरी का बेवजह आरोप लगाकर बरमकेला पुलिस के द्वारा युवक को प्रताड़ित करते हुए उसके साथ मारपीट करने की शिकायत को लेकर आज गांव के ग्रामीणों ने एसपी आफिस पहुंचकर अपने साथ हुए अन्याय में न्याय दिलाने की मांग की है।
पुलिस अधीक्षक के नाम सौंपे गए ज्ञापन में पीड़ित कौशल पटेल ने लिखा है कि वह 31 मार्च की सुबह साढ़े 10 बजे घर से बाहर जाने के कारण अपने घर की चाबी पड़ोसी चतुर सिंह पटेल के पास छोड़ दिया था। उसी दिन 12 बजे मेरे पुत्र आकाश पटेल घर आया और उनके पास चाबी मांगने के लिए गया तो कमरे में चतुर सिंह के घर में ताला लगा हुआ था, उसके किराएदार किशन पटेल से पूछने पर उसने बताया कि चाबी मेरे पास है, घरवाले बाहर गए हैं। इसके बाद किराएदार ने मेरे पुत्र आकाश को चाबी दे दिया। इसके बाद शाम सवा चार बजे मेरे पुत्र आकाश के मोबाईल में चतुर सिंह की पुत्री ज्योति पटेल ने फोन पर उसे अपने घर बुलाया और जबरन मेरे पुत्र आकाश पटेल को मेरे घर में चोरी हो गया है बोलकर चतुर सिंह के द्वारा बार-बार मेरे पुत्र आकाश पटेल पर चोरी का झूठा इलजाम लगाया गया। इस मामले में बरमकेला पुलिस ने बिना कोई लिखित सूचना दिए मेरे पुत्र आकाश तथा किराएदार किशन पटेल को थाना ले जाकर आकाश को कमरे में बंद करके उसके साथ मारपीट की गई। जबकि उसका कोई दोष नही था और बिना जांच के उसके उपर चोरी का आरोप लगाते हुए बेतहाशा पिटाई की है जिसके चलते उसके शरीर के कई हिस्सों में चोटें आई हैं और लाठी डंडे की पिटाई से उसके पैर में सूजन भी आ गया है। इस मारपीट से मै काफी आहत हुआ हूं और बिना किसी आरोप के मेरे साथ की गई मारपीट करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। अपने आवेदन में पीड़ित ने यह भी कहा है कि बरमकेला थाने में इस प्रकार का कृत्य उसके साथ अपमानजनक व्यवहार है और ऐसे पुलिस कर्मियों को तत्काल निलंबित करके कार्रवाई की जाए।

Related Posts

Leave a Comment