शादियों के शुभ मुहूर्त पर भारी पड़ सकती है कोरोना महामारी, जानिए गहरा रहा कैसा संकट

by bharatheadline

कोरोना महामारी के बीच अप्रैल से जून तक शादियों के शुभ मुहूर्त हैं। अक्षय तृतीया व रामनवमी पर बड़ी संख्या में शादियां होती हैं, लेकिन एक बार फिर से कोरोना वायरस शुभ मुहूर्त पर भारी पड़ता दिख रहा है। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। इससे वो लोग काफी परेशान है, जिन्होंने शादी-विवाह के लिए होटल, बैंक्वेट हॉल व गेस्ट हाउस बुक करा दिया था। हालांकि जिला प्रशासन ने अभी तक शादी-विवाह जैसे आयोजनों पर किसी प्रकार की रोक नहीं लगाई हैं, लेकिन लोगों में डर काफी है। वहीं होटल कारोबारियों के मुताबिक कोरोना के कारण मेहमानों की लिस्ट सीमित रहेगी।
जनवरी के बाद से शादी व अन्य शुभ कार्यों के लिए कोई खास मुहूर्त नहीं होने के कारण लोग अप्रैल-जून के इंतजार में बैठे हैं। ज्यादातर लोगों ने इन्हीं महीनों में अपना कार्यक्रम तय भी कर रखा है, लेकिन पूर्व नियोजित इन कार्यक्रमों पर संकट के बादल मंडराते नजर आ रहे हैं। खासकर शादियों पर, तिथियां तय होने के साथ ही सारी जरूरी तैयारियां लगभग पूरी की जा चुकी है।

मेहमानों की लिस्ट छोटी हो सकती है
उत्तर प्रदेश होटल एवं रेस्टोरेंट एसोसिएशन के संयुक्त सचिव एवं होटल कारोबारी श्याम कृष्णानी ने बताया कि लखनऊ में छोटे-बड़े करीब 2500 होटल व रेस्टोरेंट हैं। इनमें से करीब 500 होटल ऐसे हैं, जहां पर शादियों की बुकिंग होती है। उन्होंने बताया कि 24 अप्रैल से 31 जुलाई तक शहर के सभी होटल, बैंक्वेट हॉल में औसतन एक हजार शादियां होंगी। उन्होंने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो गई हैं, लेकिन अभी तक किसी ने होटल की बुकिंग कैसिंल नहीं कराई हैं। टेंट,कैटर्स एंड डेकोरेटर्स एसोसिएशन के महासचिव मुदित तंगाड़ी ने बताया कि जिन लोगों ने पिछली बार कोरोना महामारी के कारण शादियां कैसिंल कर दी थी। शायद वो इस बार शादियां कैसिंल न करें। हालांकि मेहमानों की लिस्ट छोटी हो सकती है।

बुकिंग निरस्त होने से कारोबारी पस्त पड़ जाएंगे
लखनऊ आदर्श टेंट कैटर्स व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण बढ़ोतरी का असर शादी करने वालों पर ही नहीं बल्कि, उससे जुड़े काम-धंधे वालों पर भी पड़ने वाला है। बुकिंग निरस्त होने से इस कारोबार से जुड़े लोग आर्थिक रूप से पस्त पड़ सकते हैं। साउंड सिस्टम, बैंड व धुमाल के साथ ही कैटरिन वाले भी लगातार दूसरे वर्ष बेरोजगार हो सकते हैं। फोटो-वीडियो के साथ ही ट्रैवल्स एजेंसी संचालकों पर भी इसकी मार पड़ सकती है।

30 अप्रैल को शादी, लेकिन परिवार में चिंता
कानपुर रोड स्थित बंथरा निवासी अजय कुमार की शादी 30 अप्रैल को तय हो चुकी है। उन्होंने शादी घर, साउंड सिस्टम, कैटरिन समेत लगभग सभी तैयारियां कर ली है। कार्ड छपने के साथ ही बांटना भी शुरू कर दिया है। इस बीच कोरोना का संक्रमण फिर से तेज होने से पूरे परिवार की चिंता बढ़ गई है कि आखिर ऐसे माहौल में शादी कैसे हो पाएगी। उन्होंने सैकड़ों लोगों का आमंत्रण कार्ड बांट लिया है। मेहमानों ने भी आने की तैयारी पूरी कर रखी है। उन्होंने बताया कि बदली परिस्थितियों में यदि जिला प्रशासन के दिशा-निर्देशों के अनुसार ही सारे कार्यक्रम कराएंगे।

किस माह कितने शुभ मुहूर्त

  • अप्रैल- 24, 25, 26,27 और 30 तारीख है।
  • मई- 2, 4,7,8,21,22,23,26,29 और 31 तिथि विवाह के लिए शुभ है।
  • जून- 3,4,5,6,18,19,20,24,26,27,28 और 30 है।
  • जुलाई- 1, 2,3,6,17,18,21,22,23,25,26,28,29,30 और 31 है।

कोरोना के कारण शादी की तारीख आगे बढ़ा रहे हैं
वेडिंग प्लानर पूजा मिश्रा ने बताया कि कोरोना के कारण लोगों में काफी डर है। इस दौरान कई लोग शादी की तारीख आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने बताया कि 28 अप्रैल को आलमबाग के पास एक लॉन में शादी थी, लेकिन लड़का आस्ट्रेलिया में रहता है। कोरोना के कारण वह नहीं आ रहा है। इसी प्रकार महानगर निवासी प्रफुल्ल दीक्षित के बेटे की शादी 18 मई को है। उन्होंने बुकिंग कैसिंल कर दी है।

Related Posts

Leave a Comment