PUBG के चलते 12 साल के बच्चे की पत्थर मारकर हत्या, एक दिन पहले हुआ था लापता

by bharatheadline

कर्नाटक में मंगलुरु के उल्लाल पुलिस स्टेशन इलाके में ऑनलाइन गेम पबजी के चलते एक 12 साल के बच्चे मोहम्मद अफीक की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार, एक अन्य स्थानीय लड़के दीपक (17-18 वर्ष) के साथ लड़ाई के बाद उसकी मौत हो गई । दोनों करीब तीन महीने पहले एक मोबाइल शॉप पर मिले थे और एक-दूसरे के साथ पबजी खेलने लगे।
पुलिस अधिकारी शशि कुमार ने बताया कि शनिवार की रात लगभग 9 बजे, दीपक और अकीफ मिले और साथ बैठकर गेम खेलने का फैसला किया। क्योंकि दीपक को संदेह था कि अफीक के नाम पर कोई और बेहतर खेल खेलता है। साथ बैठकर खेलते हुए अकीफ गेम हार गया और दीपक उसे चीटर कहकर चिढ़ाने लगा। इसपर अफीक ने दीपक पर पत्थर फेंककर मारा। दीपक ने गुस्से में पलटवार किया तो अफीक के सर से खून बहने लगा और उसकी जान चली गई। बता दें कि दीपक ने अकीफ़ पर धोखा देने और खुद के नाम से किसी और को खिलाने का आरोप लगाया था। शशि कुमार ने बताया कि पूरे मामले की जानकारी तब लगी जब अफीक कल शाम अचानक लापता हो गया। जिसके बाद परिजनों ने पुलिस में बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। बच्चे की लाश उसके घर से 3 किलोमीटर की दूरी पर यानी केसी रोड से बरामद की गई। कहा यह भी जा रहा है कि बच्चा PUBG गेम का आदी था। पुलिस घटनास्थल का दौरा कर हत्यारे से संबंधित सबूत जुटाने का प्रयास कर रही है।
गौरतलब है कि, भारत सरकार ने सितंबर 2020 में 117 अन्य चीनी मोबाइल ऐप के साथ PUBG पर प्रतिबंध लगा दिया था। लेकिन कुछ ऑनलाइन गेमर्स इसे खेल सकते हैं। अकेले भारत में इस गेम के 50 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता थे।

Related Posts

Leave a Comment