अधजले शव को चिता पर ही छोड़ कर भागे परिजन, जानिए वजह

by bharatheadline

कोरोना के बढ़ते प्रकोप से मानवता भी तार तार हो चुकी है। एक कस्बे के श्मशान घाट पर कोरोना से संक्रमित शवों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। जिससे शव दाह यात्री भी खौफजदा हैं।
ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है कि बीते शनिवार को शाम के समय रायबरेली जनपद के सत्य नगर से एक शव अंतिम संस्कार के लिए डलमऊ गंगा घाट पर लाया गया। जहां पर एक तीर्थ पुरोहित ने विधिवत मंत्रोच्चारण के साथ दाह संस्कार की संपूर्ण क्रिया को संपन्न कराया। परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार करने के लिए चिता पर लिटा दिया। जिसके बाद चिता में आग लगा दी गई लेकिन कुछ ही देर बाद मौसम में परिवर्तन हुआ और तीव्र गति के साथ आंधी और पानी आ गया। तूफान से डर परिजन अधजले शव को गंगा घाट पर है छोड़कर भाग निकले। आंधी और पानी की वजह से चिता पर लगी आग बुझ गई तथा चिता पर रखे शव को कुत्ते नोंच नोंच कर खाने लगे‌।
हद तो तब हो गई जब गंगा घाट से महज 200 मीटर की दूरी पर स्थित पुलिस चौकी मैं तैनात सिपाहियों को भी इस घटना की भनक नहीं लगी। सुबह होने पर जब श्मशान घाट पर तीर्थ पुरोहित पहुंचे और वहां का दृश्य देखकर हैरान हो गए, तत्काल चिता में आग लगवाकर शव का अंतिम संस्कार कराया गया।

Related Posts

Leave a Comment