एक हफ्ते में उजड़ा हंसता-खेलता परिवार, सास-जेठ और पति की मौत से सदमे में आकर बहू ने लगाई फांसी

by bharatheadline

कोरोना वायरस ने कई लोगों को अपनों से हमेशा के लिए जुदा कर दिया है। निश्चित ही यह असहनीय दुख है लेकिन कई लोगों के लिए अपनों का चले जाना इतना बड़ा सदमा बन रहा है कि वे खुद का जीवन खत्म कर रहे हैं। ऐसा ही हिला देने वाला एक मामला मध्य प्रदेश के देवास जिले से आया है। यहां महज हफ्ते भर में हंसता-खेलता परिवार खत्म हो गया। यहां कोरोना की वजह से सास, जेठ और पति को खोने वाली परिवार की छोटी बहू ने भी फांसी लगाकर जान दे दी।
यह दुखद घटना देवास के अग्रवाल समाज के अध्यक्ष और व्यापारी बाल किशन अग्रवाल के घर की है। बाल किशन की पत्नी का लगभग आठ दिन पहले कोरोना की वजह से निजी अस्पताल में निधन हो गया था। इसके बाद कोरोना ने ही उनके बड़े बटे संजय गर्ग की जान ले ली और फिर छोटे बेटे स्वपनेश ने भी कोविड के आगे दम तोड़ दिया। एक हफ्ते के अंदर पति, जेठ और सास को खोने वाली परिवार की छोटी बहू यह सदमा बर्दाश्त न कर सकी और आखिरकार उसने भी फांसी लगाकर जान दे दी।
अब परिवार में सिर्फ व्यापारी बालकिशन गर्ग, उनकी बड़ी बहू और दोनों बेटों के बच्चे बचे हैं। यह परिवार सिविल लाइन थाना क्षेत्र के मैना श्री कॉलोनी में रहता है।
सूचना मिलते ही सिविल लाइन थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को जिला चिकित्सालय भेजा। यहां पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। बता दें कि कोरोना के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक मध्य प्रदेश भी है। राज्य में मंगलवार को भी कोरोना वायरस के 12 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए थे।

Related Posts

Leave a Comment