पिता को नहीं पसंद था गांव के लड़के से दोस्ती, फिर क्या हुआ कि बेटी ने कर ली खुदकुशी

by bharatheadline

परिवार की मर्जी के बिना गांव के युवक से दोस्ती करने पर युवती को प्रताड़ित किया गया। पिता की हरकतों से आजिज होकर युवती ने फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली। बेटी की मौत के बाद भी परिवार वालों ने पुलिस को सूचना दिए बिना शव का अंतिम संस्कार कर दिया। डेढ़ महीने तक गांव में युवती के नजर नहीं आने पर ग्रामीणों को शक हुआ। गुरुवार को युवती के दोस्त के पिता ने इटौंजा थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।जिसके आधार पर आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।
मलूकपुर निवासी जितेंद्र की दोस्ती गांव में रहने वाली खुशी से थी। इस बात की जानकारी युवक-युवती के परिवारों को थी। खुशी के पिता मुकेश लोधी को यह दोस्ती पसंद नहीं थी। वह बेटी पर जितेंद्र से बोलचाल बंद करने का दबाव डालते थे। लेकिन खुशी इसके लिए तैयार नहीं थी।जितेंद्र के पिता गुड्डू के अनुसार एक मार्च को खुशी उनके घर आ गई थी। यह बात पता लगते ही मुकेश पांच लोगों के साथ आ धमका और हंगामा करने लगा। जिस पर गुड्डू ने खुशी को जाने के लिए कह दिया। आरोप है कि खुशी को घर ले जाने के बाद मुकेश लोधी ने उसके साथ मारपीट की। पिता की इस हरकत से नाराज होकर खुशी ने फांसी लगा ली। आरोप है कि खुशी की मौत होने के बाद मुकेश ने किसी को सूचना दिए बिना ही शव की अंतिम क्रिया कर दी।
गुड्डू के अनुसार उन्हें ग्रामीणों से इस बात की जानकारी मिली थी। मगर, मुकेश के डर से वह कुछ भी कहने से बचते रहे। लेकिन खुशी की मौत उन्हें झकझोर रही थी। जिसके बाद गुरुवार को इटौंजा थाने पहुंच कर गुड्डू ने मुकेश लोधी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इंस्पेक्टर इटौंजा के मुताबिक मुकेश लोधी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

Related Posts

Leave a Comment