अस्पताल में 20 की हो गई थी मौत, 200 की अटकीं थीं सांसें, ऐन वक्त पर मिल गई ‘संजीवनी’

by bharatheadline

कोरोना वायरस संकट की वजह से पूरे देश में ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार है। राजधानी दिल्ली में ऑक्सीजन के गंभीर संकट के बीच दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में 20 अत्यंत बीमार मरीजों की रात भर में मौत हो गई। इसी अस्पताल में करीब 200 मरीजों की सांसें अटकीं थीं, उनके पास महज आधे घंटे का ऑक्सीजन बचा था, तभी ऐन वक्त पर ऑक्सीजन का टैंकर आ गया और फिर आफत में फंसे मरीजों को राहत मिली।
समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि राजधानी दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई हो गई है। दोपहर में एक टैंकर अस्पताल पहुंचा और फिर ऑक्सीजन की सप्लाई हुई। अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ डी के बलूजा ने पीटीआई को बताया कि भंडार कम होने की वजह से ऑक्सीजन का दबाब घट गया है। उन्होंने कहा कि अस्पताल में करीब 200 मरीज भर्ती हैं और उनके पास 10 बजकर 45 मिनट पर केवल आधे घंटे की ऑक्सीजन शेष थी।
कई घंटों की देरी के बाद अस्पताल को ऑक्सीजन की अंतिम रिफिल मध्यरात्रि में प्राप्त हुई थी। सरकार से किसी तरह की मदद मिली है, यह पूछे जाने पर चिकित्सा निदेशक ने कह कि किसी ने भी कोई वादा नहीं किया है। हर कोई कह रहा है कि हम भरसक कोशिश कर रहे हैं। डॉ बलूजा ने कहा कि अस्पताल में भर्ती करीब 200 मरीजों में से 80 प्रतिशत मरीज ऑक्सीजन पर हैं। करीब 35 मरीज आईसीयू में हैं।
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ऑक्सीजन की कमी के चलते दिल्ली के एक अस्पताल में 20 मरीजों की मौत होने पर शनिवार को दुख जताया और पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से कई मरीजों की मौत बहुत दुखद है। मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के प्रति हैं।’ कांग्रेस नेता ने दिल्ली सरकार और पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे पीड़ित परिवारों की हर संभव मदद करें।

Related Posts

Leave a Comment