अस्पतालों में मरीजों के सुगमता से इलाज और आगजनी की घटना को रोकने के लिए पुख्ता प्रबंध हो: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

by bharatheadline

नगरीय निकायों के हर गली-मोहल्ले में हो नियमित साफ-सफाई और कचरा का निपटान
मरीजों की सहूलियत के लिए हर ग्राम पंचायत स्तर में ऑक्सीमीटर तथा दवाई की पर्याप्त उपलब्धता के निर्देश
लोगों को राशन तथा आवश्यक सामग्रियों की सहजता से हो उपलब्धता
मुख्यमंत्री ने रायपुर तथा दुर्ग संभाग के नगर पालिका परिषदों में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की
रायपुर
। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रायपुर एवं दुर्ग संभाग की सभी नगर पालिका परिषदों के अध्यक्ष एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारियों की संयुक्त बैठक लेकर कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति एवं बचाव के उपायों की समीक्षा की। आज मुख्यमंत्री निवास कार्यालय से आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, नगरीय प्रशासन विभाग की सचिव श्रीमती अलरमेलमंगई डी. और नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष और अधिकारी शामिल हुए।
श्री बघेल ने नगर पालिका परिषदों में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि वर्तमान में हम सभी वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण कठिन दौर से गुजर रहे हैं। सबके सहयोग से इसे जल्द से जल्द हराना है। उन्होंने कोरोना संक्रमण की रोकथाम तथा मरीजों के सुगमता से इलाज के लिए अस्पतालों में बेहतर प्रबंधन के साथ ऑक्सीजन बेडो तथा आवश्यक दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अभी कोरोना संक्रमण का दौर चल रहा है, ऐसे हालात में किसी भी व्यक्ति को सर्दी, जुकाम तथा बुखार होने पर वे इसका तत्काल जांच कराए और दवा लेना प्रारंभ कर दें। इससे बीमारी को बढ़ने और गंभीर स्थिति जैसे हालात को समय रहते रोका जा सकता है। उन्हांेने इस दौरान वैक्सीनेशन सहित कोरोना संक्रमण की टेस्टिंग को बढ़ाए जाने के लिए विशेष जोर दिया।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने समीक्षा करते हुए नगरीय निकायों के हर गली-मोहल्ले में प्रतिदिन नियमित रूप साफ-सफाई और कचरा के निपटान के लिए सख्त निर्देश दिए। उन्होंने इस दौरान नगरीय निकायों के सभी गली-मोहल्लों में निरंतर भ्रमण कर यह भी निगरानी रखने के लिए निर्देशित किया कि वहां लोगों की भीड़ न हो और कोरोना का संक्रमण फैलने न पाए। उन्होंने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन भी सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने इस दौरान नगरी निकाय क्षेत्र के अंतर्गत एयरपोर्ट, रेल्वे स्टेशन तथा बस स्टेंड सहित सीमावर्ती क्षेत्रों में बाहरी लोगों की सघन जांच और व्यवस्था के लिए आवश्यक निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने समीक्षा के दौरान अस्पतालों में आगजनी की घटना को रोकने और मरीजों के सुगमता से इलाज के लिए पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके तहत अस्पतालों में वेन्टीलेटर, ऑक्सीजन युक्त बिस्तरों, आवश्यक चिकित्सा उपकरणों तथा दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता पर विशेष ध्यान दें, ताकि मरीजों को इलाज के लिए कोई दिक्कत न हो। उन्होंने इस तारतम्य में मरीजों तथा इलाज में सहूलियत के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में भी हर ग्राम पंचायत स्तर पर ऑक्सीमीटर तथा दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता के लिए कहा। स्थानीय स्तर पर ऑक्सीमीटर तथा दवाईयों आदि की सहज उपलब्धता से मरीज आवश्यकतानुसार इसका तत्काल उपयोग कर सकेंगे, जो बीमारी को बढ़ने से रोकने में काफी कारगर होगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि कारोना संकट काल में राज्य के सार्वजनिक वितरण प्रणाली उपभोक्ताओं को मई एवं जून माह का राशन एकमुश्त मुफ्त उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि जरूरतमंद लोगों को राशन के लिए कोई दिक्कत न हो। उन्होंने नगरीय निकायों को इसका शीघ्र भंडारण और वितरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसी तरह महापौर और पार्षद निधि का कोरोना नियंत्रण तथा उपचार व्यवस्था में बेहतर उपयोग सुनिश्चित करने के लिए कहा। इस दौरान नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने भी सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य में सभी नगरीय निकाय कोरोना नियंत्रण और लोगों को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए निरंतर प्रयासरत है।

Related Posts

Leave a Comment