शरद मेहर का दुखद निधन

by bharatheadline

सारंगढ़ । कोरोनावायरस पूरे देश में सुनामी बनकर कहर बरपा रही है । चारों तरफ दुख , पीड़ा , अवसाद तो कहीं खामोशी का माहौल पूरे वातावरण में पसरा हुआ है । शरद मेहर नगर के प्रतिष्ठित व्यक्तियों में शुमार थे । दिमाग से शिक्षक , हृदय से कवि , और दिल से संगीत के बेताज बादशाह कहलाने वाले शरद मेहर का दुखद निधन का समाचार व्हाट्सएप के माध्यम से प्राप्त हो रहा हैं । जो लोगों को गमगीन माहौल में रहने के लिए विवश कर रहा है । युवा हृदय सम्राट , सज्जन , सरल , सहज व्यक्ति से परिपूर्ण शिक्षक, कवि, साहित्यकार और संगीतकार के रूप में सारंगढ़ ही नहीं अपितु क्षेत्र में विख्यात रहे । ऐसा जिंदादिल हँसमुख और मिलनसार व्यक्तित्व को फिर कोरोना ने हमसे छीन लिया । शहर में नित्य प्रतिष्ठित व्यक्तियों के निधन का शोक समाचार पूरे नगर वासियों को गमगीन कर रहा है । शरद मेहर के साथ रहे शिक्षक वर्गों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी , वही संगीत शिरोमणि विक्रम महंत ने श्रद्धांजलि देते हुए इस दुख की घड़ी में परिजनों के साथ खड़े होने की बात कही है ।

Related Posts

Leave a Comment