छत्तीसगढ़ अंचल के प्रख्यात पत्रकार एम.ए.जोसेफ नहीं रहे, आईजेएफ के प्रदेश अध्यक्ष शरनजीत तेतरी और महासचिव अनिल रतेरिया सहित पूरे संगठन ने श्रद्धांजलि अप्रित की, एक नजर उनके जीवन परिचय..

by bharatheadline

रायपुर। प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार एम.ए.जोसेफ का आज हृदयघात से निधन हो गया। वे 73 वर्ष के थे। श्री जोसेफ नवभारत से पत्रकारिता प्रारंभ कर देशबंधु , अमृतसंदेश, रौद्रमुखी और प्रखर समाचार मे अपनी सेवाएं दिये। वे स्वर्गीय एम.एम. एंथोनी के सुपुत्र, राजेश, सीमा, नीता के पिता तथा एम.ए.मैथ्यू, राजू एंथोनी और रवि थामस के बड़े भाई थे. कल शुक्रवार को सुबह 10 बजे हीरापुर कब्रिस्तान मे उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा।
इंडियन जर्नलिस्ट्स फेडरेशन ( ijf ) छत्तीसगढ़ ने प्रेस जगत के वरिष्ठ पत्रकार एम .ए.जोसेफ जी को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है। इंडियन जर्नलिस्ट्स फेडरेशन ( ijf )छत्तीसगढ़ के शरनजीत सिंह तेतरी छत्तीसगढ़ प्रदेशअध्यक्ष (ijf), अमित मिश्रा प्रदेश उपाध्यक्ष, अनिल रतेरिया प्रदेश महासचिव, प्रताप नारायण सिंह प्रदेश सचिव , भारत योगी प्रदेश सचिव , आबिद सेख ,नरेंद्र शर्मा, महेंद्र ठाकुर,विजय लाल, किशोर कर ,शशिर देवगन ने उनके दुःखद निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें एवं परिजनों को शक्ति प्रदान करें।

एक नजर उनके जीवन परिचय
वरिष्ठ पत्रकार एम.ए.जोसेफ का जन्म 23 जनवरी 1948 को हुआ था उनके पिता स्व. श्री एम.एम.एंटोनी, माता का नाम: स्व. श्रीमती ग्रेसी एंटोनी थी। वे वर्तमान में 23 एंटोनी काँटेज, सर्वोदय नगर (पुरानी हीरापुर कालोनी) टाटीबंद रायपुर 492099 छत्तीसगढ़ में निवासरत थे। मातृभाषा: मलयालम थी और वे छत्तीसगढ़ के मूल निवासी थे। उनकी शिक्षा: मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ राजनीति शास्त्र में हिन्दी माध्यम से एम.ए.। पारिवारिक स्थिति: चार भाई, एक बहन, पत्नी-स्व. श्रीमती हेमलता जोसेंफ, पुत्र- राजेश जोसेफ, पुत्र वधु अनुशा जोसेफ पौत्र एरूण जोसेफ, पुत्री श्रीमती सीमा सावियो जोसेफ, पुत्री नीता जोसेफ फर्नाण्डीज।

पेशा: पत्रकारिता-
उन्होंने सन् 1969 से पत्रकारिता में,मध्यप्रदेश व विदर्भ से सर्वाधिक प्रकाशित हिन्दी दैनिक नवभारत में सह संपादक से पत्रकारिता की शुरूआत की. सन् 1985 में अमृत संदेश में मुख्य उप संपादक तत्पश्चात नवभास्कर मे मुख्य नगर प्रतिनिधि. सन् 1992 में नवभारत में पुन: वापसी.विभिन्न डेस्कों में काम करने का अनुभव,नवभारत में मुख्य नगर प्रतिनिधि व विशेष संवाददाता के रूप में कार्यरत रहे. सन् 2003 में नवभारत छोडक़र हरिभूमि में सहायक संपादक रंहा तत्पश्चात 2004 से 2005 तक दैनिक महाकौशल में स्थानीय संपादक के पद पर कार्य किया। कुछ समय बीपीएन टाइम्स में संपादक रहे। फिलहाल साध्य दैनिक प्रखर समाचार में स्थानीय संपादक के पद पर कार्यरत थे उनकी महत्वपूर्ण रिपोर्टिंग: आठवें और नवें अंतर्राष्ष्टीय फिल्म महोत्सव दिल्ली व मुम्बई की रिपोर्टिगं, सन् 1977 के दौरान जमशेदपुर में हुए सांप्रदायिक दंगे की रिपोर्टिंग, चांपा मे अहमदाबाद-हावड़ा भीषण दुर्घटना की स्पाट रिपोर्टिगं,भोपाल, रायपुर में आयोजित अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की इंदिरा गांधी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक की रिपोर्टिंग,राष्ट्रीय नेताओं की पत्रकर वार्ता, साक्षात्कार, राजनैतिक, आपराधिक व मानवीय पहलुओं से संबन्धित रिपोर्टिगं,दिनमान, रविवार, जनसत्ता जैसे राष्ट्रीय समाचार पत्र व मेग्जीन में उनके लेख प्रकाशित हुए है.

उनके द्वारा तीन पुस्तके उदय छत्तीसगढ़, लोक दर्पण, रिपोर्ताज मेरे द्वारा लिखी गई है.
उन्हें सर्वश्रेष्ठ पत्रकार के लिये 1995 मे केपी नारायण अवार्ड, 1998-99 में महंत बिसाहूदास छत्तीसगढ़ अस्मिता पुरस्कार मिल चुका है।
सम्मान: सिन्धु समाज, मारवाडी युवा मंच,सतनामी एंव सिक्ख समाज
पत्रकारिता दायित्व: रायपुर प्रेस क्लब का दो बार महामंत्री और तीन बार अध्यक्ष रहे
रायपुर श्रमजीवी पत्रकार संघ का महामंत्री, तथा दक्षिण पूर्वी रेलवे सलाहकार समिति का 1998 99 में सदस्य रहे.

Related Posts

Leave a Comment