जशपुर जेल में 21 कैदी पॉजिटिव, अलग से कोविड केयर बैरक बनाई; राज्य में संक्रमण से 251 लोगों की मौत

by bharatheadline

छत्तीसगढ़ के जशपुर की जिला जेल में 21 कैदियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बुधवार को एक कैदी के संक्रमित मिलने के बाद बैरक के 46 कैदियों का टेस्ट किया गया था। आशंका जताई जा रही है कि इन कैदियों के संपर्क में आए दूसरे कैदी भी संक्रमित हो सकते हैं। जेल प्रशासन ने जेल में अलग कोविड केयर बैरक बनाकर उन्हें वहां रख दिया है।

पिछले कुछ महीनों में हो चुकी 5 कैदियों की मौत
पिछले कुछ महीनों में रायपुर और दुर्ग की केंद्रीय जेलों में बंद 5 कैदियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। जेलों में संक्रमण के 70 मामले सामने आए हैं। राज्य की सभी जेलों में क्षमता से अधिक कैदी हैं। डॉक्टरों का कहना है कि ऐसी बंद और भीड़ वाली जगहों में संक्रमण के फैलने का ज्यादा खतरा है। ऐसा होने पर बंदी रक्षकों पर भी प्रभाव पड़ सकता है।

मरने वालों की संख्या 8 हजार के पार
गुरुवार रात जारी आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश भर में 251 लोगों की मौत हुई है। इनमें सबसे अधिक 48 मौत रायपुर में हुई है। बिलासपुर, दुर्ग और धमतरी और कोरबा में भी मौत के आंकड़े अधिक हैं। इनको मिलाकर कोरोना संक्रमण की वजह से अब तक 8 हजार 312 लोगों की जान जा चुकी है।

15 हजार से ज्यादा मरीज मिले
पिछले 24 घंटों में 15 हजार 804 नए कोरोना संक्रमित मिले। वहीं 16 हजार 489 कोरोना से रिकवर हुए हैं। अब प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 1 लाख 17 हजार 910 हो चुकी है। राज्य में गुरुवार को 61 हजार 6 सैंपलों जांच की गई।

प्रमुख जिलों में कोरोना का हाल
रायपुर में पिछले 24 घंटे में 1414 नए मरीज मिले। 48 लोगों की मौत हुई। अब राजधानी में 10 हजार 820 एक्टिव मरीज हैं।
दुर्ग में 1496 नए मरीज मिले। 13 लोगों की जान गई। अब यहां एक्टिव मरीज 6077 हैं।
बिलासपुर में 1337 नए मरीज मिले। 37 लोगों की मौत हुई। एक्टिव मरीज 7957 हैं।
राजनांदगांव में 720 नए मरीज मिले। 7 लोगों की मौत हुई। यहां एक्टिव केस 7549 हैं।
रायगढ़ में 1196 नए मरीज मिले। 6 लोगों की मौत हुई। अब एक्टिव केस 10,054 हैं।
कोरबा में 1043 लोग संक्रमित हुए। 11 लोगों की मौत हुई। अब यहां 7112 एक्टिव मरीज हैं।
नारायणपुर जिले में सबसे कम 22 मरीज मिले। यहां अभी 235 एक्टिव मरीज हैं।

आज से कांकेर-महासमुंद में RTPCR जांच की सुविधा
छत्तीसगढ़ में आज से कोरोना की RTPCR जांच के लिए दो नई लैब शुरू हो रही हैं। इन्हें कांकेर और महासमुंद के निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज में बनाया गया है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव दोनों वॉयरोलॉजी लैब का उद्घाटन करेंगे। इन लैब में फिलहाल उन्हीं जिलों के सैम्पल जांचे जाएंगे। शुरुआत में कांकेर की वॉयरोलॉजी लैब की क्षमता 300 सैम्पल प्रतिदिन की होगी। वहीं महासमुंद में 350 सैम्पल प्रतिदिन जांचे जा सकेंगे। कुछ समय बाद इसकी क्षमता बढ़ाई जा सकती है।

Related Posts

Leave a Comment